जयपुर: जैन मंदिर में घुसे हथियारबंद बदमाश, लूटी अष्टधातु की चार मूर्तियां

Smart News Team, Last updated: 06/02/2021 05:50 PM IST
  • जयपुर में एक बार फिर से मंदिर में लूट की वारदात सामने आई है. बता दें, एक हफ्ते में हथियारबंद बदमाशों ने दूसरे मंदिर को निशाना बनाया है.
जैन मंदिर में घुसे हथियारबंद बदमाश, लूटी अष्टधातु की चार मूर्तियां (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर के बजाज नगर इलाके में स्थित दिगम्बर जैन मंदिर में कुछ हथियारबंद बदमाशों घुस आए, जिसके बाद उन्होंने लूट की वारदात को अंजाम दिया. यह गुरुवार देर रात की है. सभी बदमाशों ने अपने मुंह पर नकाब लगाए हुए थे. उन्होंने पहले तो हथियारों के बल पर चौकीदार और सेवादार को बंधक बनाया, फिर मंदिर से अष्टधातु की चार मूर्तियां लूटकर फरार हो गए. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची. जिसके बाद से बदमाशों की तलाश जारी है.

हालांकि, अभी तक बदमाशों का कोई पता नहीं लग पाया है. इस घटना को लेकर पुलिस ने बताया कि टोंक रोड पर महावीर नगर में दिगंबर जैन मंदिर में लूट की वारदात हुई. गुरुवार रात करीब सवा तीन बजे नकाबपोश चार बदमाश जैन मंदिर के पड़ोस में स्थित मकान में घुसे. वहां दीवार पर लगा जाल हटाकर बदमाशों ने मंदिर के अंदर प्रवेश किया. दीवार फांदकर अंदर घुसे लूटेरों के आहट होने पर मंदिर चौकीदार आशीष यादव व नवरतन जाग गए. बदमाशों ने पिस्टल के दम पर दोनों कर्मचारियों से मारपीट की और उन्हें बंधक बना लिया.

महिला ने लगाया आरोप, सीकर से बुलाया जयपुर और हिसार ले जाकर किया दुष्कर्म

पुलिस ने आगे बताया कि जिसके बाद बदमाश मंदिर की चाबियां छीनकर पाश्र्वनाथ भगवान सहित अष्टधातु की चार मूर्तियां और एक चांदी का सिंहासन लूटकर फरार हो गए. वहीं, किसी तरह सेवादार और चौकीदार ने खुद को बंधन से मुक्त कराया. जिसके बाद मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों को कॉल कर वारदात की जानकारी दी. पुलिस को जैसे ही मामले की सूचना मिली, तो उन्होंने इलाके में नाकाबंदी कराई, लेकिन बदमाश उनके हाथ नहीं आ सके.

जिसके बाद पुलिस ने मंदिर परिसर व आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेजों को खंगाला. बता दें, जयपुर शहर में जैन मंदिरों को बदमाश निशाना बना रहे है. इससे पहले महावीर नगर स्थित दिगम्बर जैन मंदिर में हथियारबंद बदमाशों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया था.

जयपुर: सिकलीगर को घर बुलाना पड़ा महंगा, चुरा ले गए लाखों रुपए के गहने-नकदी

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें