जिस काले हिरण के शिकार का सलमान पर आरोप लगा उसका भव्य स्मारक बनने जा रहा है

Atul Gupta, Last updated: Thu, 6th Jan 2022, 7:08 PM IST
  • साल 1998 में फिल्म हम साथ-साथ हैं कि शूटिंग के दौरान सलमान खान पर जिस काले हिरण के शिकार का आरोप लगा था उस हिरण का स्मारक बनने जा रहा है.10 एकड़ में बनने जा रहे इस स्मारक के आसपास करीब 1000 पेड़-पौधे लगाए जाएंगे.
सलमान खान पर लगा था काले हिरण के शिकार का आरोप (फोटो- सोशल मीडिया)

जयपुर: 24 साल पहले फिल्म हम साथ-साथ हैं कि शूटिंग के दौरान सलमान खान पर जिस काले हिरण को मारने का आरोप लगा था उस हिरण का स्मारक बनने जा रहा है. बिश्नोई समाज के लोग उस काले हिरण की याद में 8 से 10 एकड़ जमीन पर वनस्पति और जीवों के लिए संरक्षित स्थान बनाने जा रहे हैं जहां ये जीव आसानी से और बिना खौफ के घूम-फिर सकें. यही नहीं, काले हिरण की लाश के ऊपर स्मारक बनाया जाएगा जिसे कथित तौर पर सलमान खान ने मारा था.

गौरतलब है कि साल 1998 में जोधपुर से करीब 20 किलोमीटर दूर कनकानी गांव में सलमान खान ने कथित तौर पर काले हिरण का शिकार किया था. ये इलाका बिश्नोई समाज के लोगों का इलाका है जो प्रकृति और पशु प्रमी माने जाते हैं. बिश्नोई समाज के लोगों ने सलमान खान पर काले हिरण का शिकार करने का आरोप लगाते हुए केस कर दिया था जो आज भी चल रहा है. बिश्नोई समाज के युवाओं का कहना है कि वो उस जगह पर स्मारक बनाएंगे जहां उस हिरण को दफ्न किया गया थाइस बाबत तेजी से उस जगह पर काम होना शुरू भी हो चुका है.

ऑनलाइन क्लास की जगह टीचर ने शेयर किया पॉर्न फिल्म का लिंक, स्कूल ने भेजा नोटिस

इसके अलावा उस दस एकड़ जमीन पर करीब 1000 पेड़-पौधे लगाए जाएंगे जहां पशु-पक्षी बैखौफ जिंदगी जी सकें. बिश्नोई समाज के लोगों का कहना है कि वो इस काम के जरिए जन मानस को ये संदेश देना चाहते हैं कि प्रकृति और पशुओं से प्रेम करो जैसे उनका समाज करता है. बिश्नोई समाज के एक युवा प्रेम सरन के मुताबिक जानवर हमारे परिवार की तरह हैं और अपने परिवार के किसी भी सदस्य को बचाने के लिए हम अपनी जिंदगी भी दांव पर लगा सकते हैं. गांव के युवाओं ने चंदा करके उस पूरे इलाके में स्मारक बनाने और पेड़-पौधे लगाने का काम शुरू भी कर दिया है

सलमान खान के वकील हस्तीमल सारास्वत के मुताबिक सलमान के खिलाफ चार केस चल रहे थे जिसमें शिकार से संबंधित दो मामले में उन्हें बरी कर दिया गया है जिसे राज्य ने चुनौती दी है और अब ये मामला सुप्रीम कोर्ट में है. तीसरा मामला आर्म्स एक्ट है जिसमें सलमान खान बरी हो चुके हैं लेकिन राज्य सरकार ने उसे जिला सत्र न्यायालय में चुनौती दी है. शिकार से संबंधित चौथे मामले में सलमान खान को पांच साल की सजा हो चुकी है जिसे जिला सत्र अदालत में चुनौती दी गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें