अस्पताल में नहीं मिला इलाज तो BJP प्रवक्ता ने सीधे लिखा CM गहलोत को पत्र, जानें मामला

Somya Sri, Last updated: Thu, 27th Jan 2022, 12:49 PM IST
  • बीजेपी प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना पर सवाल खड़े करते हुए सीएम अशोक गहलोत को पत्र लिखा है. उन्होंने राज्य सरकार से मांग की है कि अस्पतालों में मरीजों को सरकारी योजनाओं का लाभ अवश्य मिले.
सीएम अशोक गहलोत (फाइल फोटो)

जयपुर: भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है. राज्य में एक मरीज को सरकारी योजनाओं से जुड़े लाभ नहीं मिलने पर उन्होंने सीधे सीएम अशोक गहलोत और को पत्र लिख डाला. अपने लेटर में उन्होंने राज्य सरकार की मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना पर सवाल खड़े किए. साथ ही कैसे अस्पतालों में इन सरकारी योजनाओं का लाभ मरीजों को नहीं मिल रहा है इस पर एक उदाहरण देते हुए भी उन्होंने अपनी बात रखी. उन्होंने सीएम अशोक गहलोत और राज्य सरकार से मांग की है कि अस्पतालों में मरीजों को सरकारी योजनाओं का लाभ अवश्य मिले.

बीजेपी प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने अपने पत्र में लिखा, " मेरी विधानसभा क्षेत्र के ग्राम मोरीजा के निवासी श्री गिरधारी लाल अपने पिता का स्वास्थ्य दिनांक 25.1.2022 को खराब होने पर दाना शिवम् अस्पताल, विद्याधर नगर, जयपुर लेकर गये. उन्होंने अपना रजिस्ट्रेशन मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजनान्तर्गत करवा रखा था. रात को लगभग 12.30 बजे उनका मेरे पास फोन आया कि इस अस्पताल में मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना का लाभ नहीं दिया जा रहा है. मैंने अस्पताल के संचालक डॉ. सुनील कुमार गड़सा से बात करने का प्रयास किया परन्तु उन्होंने रात में मेरा फोन रिसीव नहीं किया. प्रातः काल मैंने पुनः प्रयास किया तो उन्होंने कहा कि मैं अभी अस्पताल जाकर पता कर लेता हूँ. मैंने दोपहर 2 बजे मरीज के परिजनों से बात की तो उन्होंने बताया कि दाना शिवम अस्पताल में चिरंजीवी योजना का लाभ देने से साफ मना कर देने के कारण अब हम अन्य चिकित्सालय में उनका इलाज करवा रहे हैं."

बदमाशों ने दिन-दहाड़े युवक का किया अपहरण, कुकर्म कर अश्लील वीडियो बनाया, मांगी फिरौती

उन्होंने अपने पत्र में आगे लिखा, "इस पर मैंने पुनः डॉ. सुनील गड़सा से बात की तो उनका जवाब आश्चर्यचकित कर देने वाला था. उन्होंने कहा कि सरकार तो ऐसे ही योजना बना देती है. हम इतना बड़ा हॉस्पिटल इसलिए खोलकर थोड़े ही बैठे हैं, ऐसे हर किसी को योजना का लाभ देने लग गये तो हमारा क्या होगा?"

रामलाल शर्मा ने लिखा, "माननीय जब सभी निजी चिकित्सालय मरीजों को इस प्रकार का जवाब देने लगे तो ऐसी सरकारी योजना का क्या लाभ? रात्रि के समय आपातकालीन स्थिति में मरीज के परिजन उनका इलाज करवायेंगे या चिरंजीवी योजना का लाभ देने वाला अस्पताल ढूंढते फिरेंगे? अतः आपसे अनुरोध है कि ऐसे निजी चिकित्सालय जिनमें सरकारी योजनाओं का लाभ देने से मना किया जाता है उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जावे ताकि आपातकालीन स्थिति में मरीज को तुरन्त सरकारी योजनाओं का लाभ मिल सके तथा भविष्य में इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं हो इसके लिए विभाग के अधिकारियों को निर्देशित कर अनुगृहीत करें."

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें