हाईटेंशन लाइन से बस में लगी आग के मामले में फीडर इंचार्ज और जेईएन को चार्जशीट

Smart News Team, Last updated: 06/12/2020 10:45 PM IST
  • जयपुर में 27 नवंबर को दिल्ली बाइपास पर अचरोल के पास एक बस हाईटेंशन लाइन से टच हो गई थी. इससे बस में आग लग गई, जिससे 3 यात्रियों की मौत हो गई थी और कई सवारियां घायल हो गई थीं. जयपुर डिस्कॉम ने दुर्घटना के उत्तरदायी व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.
फाइल फोटो

जयपुर. दिल्ली-जयपुर हाईवे पर हाईटेंशन लाइन के कारण हुए बस हादसे में संबंधित फीडर इंचार्ज, जेईएन को चार्जशीट दी गई है, जबकि संबंधित एईएन को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. हादसे के बाद विद्युत विभाग ने चार सदस्यीय कमेटी का गठन किया था. इस कमेटी ने दुर्घटना के कारण, जिम्मेदारी एवं भविष्य में ऐसी दुर्घटनाएं नहीं हो, इस संबंध में सुझावों के साथ अपनी रिपोर्ट जयपुर डिस्कॅाम प्रबंधन को सौंप दी है. 

समिति की रिपोर्ट के आधार पर जयपुर डिस्कॉम प्रबंधन ने इन अधिकारियों पर कार्रवाई की है. वहीं, होटल निर्माणकर्ता के खिलाफ विद्युत नियम के तहत कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. जयपुर डिस्कॉम के प्रबन्ध निदेशक ए.के.गुप्ता ने बताया कि 27 नवंबर को अचरोल के पास विद्युत दुर्घटना हुई थी. इसके कारण बस जल गई थी. दुर्घटना की जांच के लिए 28 नवंबर को अधीक्षण अभियन्ता-सेफ्टी, अधिशाषी अभियन्ता-आंतरिक अंकेक्षण, उपनिदेशक कार्मिक व उप पुलिस अधीक्षक सर्तकता सहित चार सदस्यों की समिति का गठन किया गया था. 

शादी में सिर्फ 100 मेहमान, गाइडलाइन ना मानने पर मैरज हॉल का लाइसेंस होगा रद्द

इस समिति द्वारा जांच के बाद प्रस्तुत रिपोर्ट के आधार पर जयपुर डिस्कॉम ने दुर्घटना के प्रथम दृष्टया उत्तरदायी व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. बता दें कि राजधानी जयपुर में दिल्ली बाइपास पर अचरोल के पास एक बस हाईटेंशन लाइन से टच हो गई थी. इससे बस में आग लग गई, जिससे 3 यात्रियों की मौत हो गई थी और कई सवारियां घायल हो गई थीं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें