राजस्थान के मंत्री अशोक चांदना का रमादेवी पर हमला, कहा कुछ जयचंद भाजपा के हाथ बिक गए हैं

Swati Gautam, Last updated: Fri, 18th Feb 2022, 7:18 PM IST
  • जिला प्रमुख चुनाव हारने के बाद कांग्रेस के भीतर कलह तेज हो गई है. पार्टी के नेता एक दूसरे पर ही आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं. कांग्रेस से जयपुर जिला प्रमुख रमा देवी के दल बदलने को लेकर राज्यमंत्री अशोक चांदना ने हमला करते हुए कहा कि वे भाजपा के हाथों बिक गए हैं.
राजस्थान के मंत्री अशोक चांदना का रमादेवी पर हमला, कहा कुछ जयचंद भाजपा के हाथ बिक गए हैं (फाइल फोटो)

जयपुर. जिला प्रमुख उम्मीदवार रमादेवी के दल बदलने को लेकर कांग्रेस के भीतर कलह शुरू हो गई हैं. भाजपा जयपुर में अल्पमत में है लेकिन उसके बावजूद उम्मीदवारों का दल बदलना कहीं न कहीं कांग्रेस के नेतृत्व पर सवाल कर खड़े कर रहा है. कांग्रेस से जयपुर जिला प्रमुख रमा देवी का दल बदलने को लेकर युवा मामले और खेल राज्य मंत्री अशोक चांदना ने रमादेवी पर हमला करते हुए कहा कि वे भाजपा के हाथों बिक गए हैं. जिसके बाद अब फिर से कांग्रेस के भीतर कलह साफ नजर आने लगी है.

बता दें सोमवार को बीजेपी ने अल्पमत में होते हुए भी अंतिम समय में कांग्रेस से जयपुर जिला प्रमुख छीन लिया था. कांग्रेस को छोड़ भाजपा का दामन थामने वाली रमा देवी को पायलट के वफादार वेद प्रकाश सोलंकी के करीबी के रूप में जाना जाता है, जो जयपुर के चाकसू से विधायक हैं. मंगलवार को चंदना ने अपने बयान में कहा, मुझे इस में बीजेपी से कोई शिकायत नहीं है, कुछ कुछ जयचंद, जो बीजेपी के हाथ बिके हुए हैं, लेकिन कांग्रेस में रह कर बीजेपी का काम कर रहे हैं, ये उन जयचंदो की शक्ल को साफ दिखाता है,  उनकी मंशा को साफ दिखाता है, की वो रह तो कांग्रेस में रहे हैं, लेकिन काम बीजेपी का कर रहे हैं. बता दें कि कांग्रेस ने जयपुर जिला परिषद की 51 सीटों में से 27 पर जीत हासिल की थी, जबकि भाजपा को 24 वोट ही मिले थे. सोमवार को रमा देवी को सरोज देवी के 25 वोटों के मुकाबले 26 वोट मिले थे. 

राजस्थान: रेमडेसिविर के नाम पर बड़ा घोटाला, 680 का इंजेक्शन 1089 में खरीद रही आरएमएससीएल

चुनावी हार के बाद गहलोत ने पायलट पर हमला करते हुए कहा था, वही लोग जिन्होंने सरकार को गिराने की कोशिश की, वे खरीद फरोख्त में शामिल हैं. उन्होंने कहा कि एक साल पहले जब गहलोत सरकार ने तत्कालीन उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट द्वारा पार्टी के भीतर विद्रोह देखा था तब पार्टी आलाकमा और सीएम अशोक गहलोत ने माफ करो और भूल जाओ की नीति अपनाई थी और सभी का स्वागत किया था लेकिन अगर यहां तक कि उसके बाद पार्टी के साथ ऐसी धोखेबाजी होती है तो निश्चित तौर पर शिकायत ऊपर तक जाएगी. बता दें दल बदलने वाली रमा देवी ने इसके पहले जयपुर वार्ड नंबर 17 से कांग्रेस के चुनाव चिह्न पर जीत हासिल की थी. सोमवार की सुबह वह प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया और विपक्ष के उप नेता राजेंद्र राठौर सहित अन्य लोगों की उपस्थिति में भाजपा का दामन थाम लिया और जयपुर जिला प्रमुख के लिए भाजपा उम्मीवार के रूप में उनकी घोषणा की गई. उन्होंने कांग्रेस की सरोज देवी को हराकर जीत हासिल की, जिसमें कांग्रेस के एक सदस्य ने क्रॉस वोटिंग की.

RSMSSB Exam Calendar 2021: राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने जारी किया साल 2021 22 भर्ती एग्जाम शेड्यूल

कांग्रेस के विराटनगर के विधायक इंद्रराज गुर्जर जो सचिन पायलट के करीबी माने जाते है उन्होंने चांदना पर हमला करते हुए कहा कांग्रेस जिला प्रमुख का चुनाव कराने में सक्षम नहीं थी वास्तव में दुर्भाग्यपूर्ण था, लेकिन इसे राजनीतिक रंग देना गलत था. साथ ही कहा अगर आप जयचंद (देशद्रोही) की बात कर रहे हैं तो आपको जैसलमेर की बात करनी चाहिए. पिछले साल के अंत में कांग्रेस ने जैसलमेर में 17 जिला परिषद सीटों में से 9 पर जीत हासिल की थी, जिसमें से आठ भाजपा के खाते में गई थीं. हालांकि, बाद में कांग्रेस जिला परिषद सदस्यों द्वारा क्रॉस वोटिंग के चलते भाजपा जिला प्रमुख का चुनाव करने में सफल रही. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें