दिवाली पर गहलोत का बंपर नौकरी गिफ्ट, राजस्थान शिक्षा विभाग में 60 हजार भर्तियां होंगी

Swati Gautam, Last updated: Wed, 3rd Nov 2021, 11:24 AM IST
  • राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को कई घोषणाएं की. राज्य में सीएम दिवाली गिफ्ट देते हुए कहा कि राज्य में स्कूली शिक्षा को उन्नत और मजबूत करने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग में 60 हजार विभिन्न पदों पर भर्ती होगी और राज्य में 626 स्कूलों का विस्तार किया जाएगा.
राजस्थान शिक्षा विभाग में होंगी 60 हजार भर्तियां, 626 स्कूलों का होगा विस्तार- CM अशोक गहलोत, file photo

जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को राज्य के लिए बड़ा दिवाली गिफ्ट दिया. राज्य में स्कूली शिक्षा को उन्नत और मजबूत करने के लिए कई बड़ी घोषणाएं की. सीएम गहलोत ने कहा कि स्कूल शिक्षा विभाग में 60 हजार विभिन्न पदों पर भर्ती की जायेंगी इतना ही नहीं सीएम ने 626 स्कूलों का विस्तार करने भी घोषणा की. सीएम ने कहा कि अंग्रेजी माध्यम की शिक्षा के प्रति लोगों के उत्साह को देखते हुए शहरों में महात्मा गांधी के स्कूलों की संख्या बढ़ाने के लिए एक सर्वेक्षण किया जाएगा और आवश्यकतानुसार अंग्रेजी माध्यम के और स्कूल खोले जाएंगे.

सीएम अशोक गहलोत ने मंगलवार को राज्य के बच्चो की शिक्षा को लेकर कई अहम मुद्दे भी उठाए. सीएम गहलोत ने कहा कि निजी शिक्षण संस्थानों में फीस निर्धारण एवं अन्य समस्याओं के लिए राजस्थान राज्य शिक्षा नियामक प्राधिकरण का गठन किया जाएगा. इससे स्कूलों की मनमानी पर रोक लगेगी और आम जनता की आर्थिक स्थिति को देखते हुए फीस का निर्धारण करेगी. सीएम गहलोत ने कहा कि खेलकूद को बढ़ावा देने और बच्चों में शारीरिक शिक्षा के प्रति जागरुकता लाने के लिए शारीरिक शिक्षा शिक्षकों का पद बढ़ाने के लिए परीक्षाएं कराई जाएंगी.

उपचुनाव 2021: राजस्थान में कांग्रेस, एमपी में BJP और बिहार में नीतीश की JDU का जलवा

सीएम ने आगे कहा कि यह प्राधिकरण राज्य सरकार, शैक्षणिक संस्थान के प्रबंधन और अभिभावकों सहित अन्य सभी हितधारकों के हितों पर चर्चा करने के बाद उचित निर्णय लेगा. सरकारी नौकरियों में स्काउट-गाइड और एनएसएस के छात्रों को प्राथमिकता देने के लिए खिलाड़ियों और एनसीसी की तरह अलग-अलग नियम बनाने की कार्रवाई की जाएगी. इतना ही नहीं अगर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में किसी तीसरी भाषा के 10 छात्र हैं तो संस्कृत, उर्दू, सिंधी, पंजाबी आदि जैसे विषयों की मांग के अनुसार विशेष भाषा के टीचर के पद को आवंटित किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें