Diwali 2021: राजस्थान में इस बार मनेगी 'साइलेंट दिवाली', गहलोत सरकार ने पटाखों पर लगाई रोक

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Sat, 2nd Oct 2021, 1:30 PM IST
  • सीएम अशोक गहलोत सरकार ने राजस्थान में दिवाली पर्व पर पटाखों के जलाने पर रोक लगा दिया है. इसके साथ ही राजस्थान सरकार ने राज्य में पटाखों के बेचने पर भी प्रतिबन्ध लगा दिया है.
राजस्थान में बिना पटाखों के मनेगी दिवाली, गहलोत सरकार ने लगाई रोक

जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार ने राजस्थान में आतिशबाजी और पटाखों के बिक्री पर रोक लगा दिया है. राजस्थान में दिवाली पर पटाखों के जलाने पर रोक का आदेश गृह मंत्रालय के तरफ से जारी किया गया है. जिसे प्रमुख सचिव अभय कुमार ने जारी किया हैं. राजस्थान सरकार की तरफ से जारी हुए आदेश के अनुसार राज्य में 1 अक्टूबर 2021 से लेकर 31 जनवरी 2022 तक सभी प्रकार की आतिशबाजी चलाने और पटाखों के बिक्री पर प्रतिबंध रहेगा.

राजस्थान सरकर ने पटाखों को प्रतिबन्ध करने का निर्णय प्रदेश में कारोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए लिया है. पिछली बार की तरह ही इस बार भी सरकार ने मरीजों के स्वास्थ्य की परवाह करते हुए सभी तरह की आतिशबाजी पर रोक लगा दिया है. पटाखों पर रोक लगाने के साथ ही मुख्य सचिव ने बताया कि आतिशबाजी के कारण होने वाले वायु प्रदूषण से रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है. जिसके चलते श्वसन तंत्र से जुड़े रोगियों के साथ—साथ कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों को पोस्ट कोविड से संबंधित परेशानियां बढ़ने का खतरा भी बढ़ जाता है.

UPSC परीक्षार्थियों को तीन दिन फ्री में घुमाएगी राजस्थान रोडवेज की बस

राजस्थान सरकार ने पटाखों कि बिक्री के साथ ही इसके बिक्री के अस्थाई लाइसेंस जारी करने पर भी रोक लगा दी है. जिसके बाद पटाखा व्यापारियों ने विरोध शुरू कर दिया है. पटाखा व्यापारियों का कहना है कि सरकार को आतिशबाजी पर रोक लगानी थी तो अस्थाई लाइसेंस के लिए पहले आवेदन क्यों मांगे गए. जिसके चलते उन्होंने एडवांस पैसा देकर पटाखों की खरीद कर लिया है. अब पटाखों पर प्रतिबन्ध लगा देने से उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ेगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार को फिर से इसपर विचार करना चाहिए. बता दें कि पिछले साल भी कोरोना संक्रमण के चलते पटाखों के जलाने और बिक्री पर रोक लगा दिया गया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें