जयपुर से बनेंगे 4 जिले? राजस्थान में 50 नए डिस्ट्रिक्ट बनाने की उठी मांग

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Sun, 20th Feb 2022, 3:53 PM IST
  • राजस्थान का बजट आने से पहले प्रदेश में फिर से नए जिलों की मांग उठ गई है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 23 फरवरी को राजस्थान का बजट की घोषणा करने वाले हैं. जिससे पहले प्रदेश में 50 नए जिले की मांग उठ रही है.
राजस्थान बजट से पहले 50 नए जिलों की मांग उठी, जयपुर से 4 डिस्ट्रिक की डिमांड

जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार 23 फरवरी को राजस्थान का बजट की घोषणा करने वाली है. राजस्थान के बजट की घोषणा से पहले फिर से एक बार नए जिलों की मांग जोड़ पकड़ लिया है. राजस्थान के मौजूदा 24 बड़े जिलों का बंटवारा 50 से ज्यादा जगहों से नए जिले की मांग उठ रही है. इन जिलों की मांग कांग्रेस और सहयोगी दलों के विधायक नए जिले बनाने के लिए ज्यादा जोर दे रहे है. माना जा रहा है कि नए जिले बनाने की मांग वोट बैंक से जोड़कर देखा जा रहा है. वहीं इसके लिए नेताओं की लॉबिंग तेज हो गई है.

राजस्थान की राजधानी जयपुर से भी नए चार जिलों की मांग की है. जयपुर के साथ ही अजमेर, बाड़मेर, सीकर, जोधपुर से भी जिला बनाने की मांग की लंबे समय से चल रही है. वहीं नागौर से पांच ने जिले की मांग है. इसके साथ ही अजमेर, उदयपुर, अलवर, पाली, सीकर, भरतपुर से 3-3 नए जिले बनाने की मांग उठी है.

राजस्थानी भाषा को मान्यता दिलाने की मांग फिर उठी, वसुंधरा का सीएम गहलोत को पत्र

जानकारी के अनुसार राजस्थान में 2008 के बाद कोई नया जिला नहीं बना है. बीजेपी सरकार में प्रतापगढ़ को नया जिला बनाया गया था. बता दें कि राजस्थान के जिले क्षेत्रफल के हिसाब से बहुत बड़े है. बाड़मेर, बीकानेर, जैसलमेर, नागौर जिलों में कई क्षेत्र ऐसे है जिनके जिला मुख्यालय 150 किलोमीटर से भी ज्यादा दूर है. जिससे लोगों को किसी काम के लिए सैकड़ों किलोमीटर दूर चलकर जाना पड़ता है और उन्हें भारी तकलीफ उठानी पड़ती है. जिसे देखते हुए कई नए 50 जिलों की मांग की जा रही है.

इन जिलों की मांग

जयपुर से सांभर लेक, शाहपुरा, फुलेरा, कोटपूतली, सीकर से नीमकाथाना, फतेहपुर शेखावाटी, श्रीमाधोपुर, बाड़मेर से बालोतरा, जैसलमेर से पोकरण, अजमेर से ब्यावर, केकड़ी, मदनगंज-किशनगढ़, जोधपुर स् फलोदी, नागौर से डीडवाना, कुचामन सिटी, मकराना, मेड़ता सिटी, चूरू से सुजानगढ़, रतनगढ़, सुजला क्षेत्र, सुजानगढ़, जसवंतगढ़ और लाडनूं का क्षेत्र मिलाकर सुजला के नाम से भी जिले की मांग, श्रीगंगानगर से अनूपगढ़, सूरतगढ़, घड़साना, श्री विजयनगर, हनुमानगढ़ से नोहर, भादरा, बीकानेर से नोखा, कोटा से रामगंजमंडी, बारा से छबड़ा, झालावाड़ से भवानीमंडी, अलवर से बहरोड़, खैरथल, भिवाड़ी, नीमराना, भरतपुर से डीग, बयाना, कामां, सवाई माधोपुर से गंगापुर सिटी, करौली से हिंडौन सिटी, भीलवाड़ा से शाहपुरा, चित्तौड़गढ़ से रावतभाटा, उदयपुर से सलूंबर, खेरवाड़ा, सराड़ा, पाली से बाली, सुमेरपुर, फालना, जालोर से भीनमाल जिला बनाने की मांग की गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें