CM अशोक गहलोत बोले- कोरोना के नाम पर लोगों को डराना बंद करे बीजेपी

Smart News Team, Last updated: 27/11/2020 09:35 PM IST
  • मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बयान जारी कर कहा है कि भाजपा नेताओं ने प्रदेश में नकारात्मक राजनीति का माहौल बनाया. गहलोत ने कहा कि जनता की सेवा से प्राप्त आशीर्वाद के दम पर राजस्थान की कांग्रेस सरकार पूरी ताकत लगाकर कोरोना से लड़ाई में विजय प्राप्त करेगी.
फाइल फोटो

जयपुर.राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि कोरोना महामारी के दौर में जब राजस्थान सरकार जनता की जान बचाने की पूरी कोशिश कर रही है, वहीं बीजेपी कोरोना का डर फैलाकर नकारात्मक राजनीति कर रही है. गहलोत ने कहा कि बीजेपी को यह ध्यान रखना चाहिए कि राजस्थान की जनता ऐसे अनैतिक कार्यों को कभी स्वीकार नहीं करेगी. महामारी के दौरान अपनी राजनीति चमकाने के बीजेपी के कुत्सित प्रयासों का राज्य की जनता समय आने पर जवाब देगी. गहलोत ने कहा कि जनता की सेवा से प्राप्त आशीर्वाद के दम पर राजस्थान की कांग्रेस सरकार पूरी ताकत लगाकर कोरोना से लड़ाई में विजय प्राप्त करेगी.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बयान जारी कर कहा है कि पिछले दिनों में भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं ने प्रदेश में नकारात्मक राजनीति का माहौल बनाया. वैश्विक महामारी के इस दौर में जहां राजस्थान सरकार पक्ष, विपक्ष और समाज के सभी तबकों को साथ लेकर काम कर रही है, वहीं भाजपा नेताओं द्वारा दिये जा रहे बयान प्रदेश की राजनीति का स्तर गिराने वाले हैं. पिछले दिनों में भाजपा नेताओं ने राजस्थान सरकार के कोविड प्रबंधन और सरकार के भविष्य को लेकर अनर्गल बयानबाजी की है. 

जयपुर-दिल्ली हाईवे पर बस में दौड़ी करंट से लगी आग, तीन लोगों की मौत, कई झुलसे

बीते दिनों राजस्थान बीजेपी के कई वरिष्ठ नेतओं ने बयान दिए हैं कि आने वाले समय में राजस्थान में सरकार गिर जाएगी. गुलाबचंद कटारिया ने बयान दिया कि राजस्थान में छह महीने में सरकार गिर जाएगी. अरुण चतुर्वेदी ने बयान दिया कि आने वाले समय में प्रदेश में मध्यावधि चुनाव होंगे. अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि राजस्थान में सरकार डगमगाने लगी है. ये सभी बयान भाजपा की लोकतंत्र विरोधी सोच को उजागर करते हैं. बीजेपी के नेताओं द्वारा दिए गए इन बयानों से यह स्पष्ट होता है कि बीजेपी धनबल और बाहुबल के आधार पर राजस्थान की सरकार को अस्थिर करने के प्रयास कर रही है. बीजेपी ने पूर्व में भी ऐसे प्रयास किए, लेकिन कांग्रेस विधायकों की एकजुटता और प्रतिबद्धता के चलते उन्हें मुंह की खानी पड़ी. 

कर्नाटक, मध्य प्रदेश, गोवा, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश में हॉर्स ट्रेडिंग के माध्यम से सरकार बनाने वाली बीजेपी को राजस्थान में मिली शिकस्त की अब भी कुंठा है. कोरोना महामारी के इस दौर में जब राजस्थान सरकार अपने कुशल मैनेजमेंट से राज्य की जनता की रक्षा कर रही है. प्रधानमंत्री ने भी इसकी तारीफ की है. लेकिन प्रदेश के विपक्षी नेताओं ने राजस्थान में कोविड मैनेजमेंट पर अनर्गल बयान देकर जनता में भय पैदा करने की कोशिश की है, जो दुर्भाग्यपूर्ण है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें