जयपुर: एसएमएस अस्पताल में 16 मई से मिलेगी कोरोना मरीजों को राहत

Smart News Team, Last updated: Fri, 14th May 2021, 9:56 AM IST
  • प्रदेश के सबसे बड़े एसएमएस यानी सवाई मानसिंह अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक शुरु होने से हजारों मरीजों को लाभ मिलेगा. यहां केवल जयपुर या राजस्थान से नहीं, ब्लकि आसपास के राज्यों के मरीज भी इलाज के लिए आते हैं.
प्रतिकात्मक तस्वीर 

जयपुर. जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में अब कोविड मरीजों को ऑक्सीजन की किल्लत का सामना नहीं करना पड़ेगा. जल्द ही इस ऑक्सीजन की कमी की समस्या से लोगों को राहत मिलेगी. दरअसल, 16 मई यानी सोमवार से अस्पताल में 20 क्यूबिक क्षमता वाले लिक्विड मेडिकल टैंक से ऑक्सीजन सप्लाई शुरू कर दी जाएगी. टैंक में एक बार में सीधे 1700 सिलेंडरों की ऑक्सीजन को भरा जा सकेगा. यहां से सीधे पाइप लाइन के जरिए वार्डों में सप्लाई की जाएगी. एक बार टैंक भरने पर अस्पताल में 24 घंटे तक ऑक्सीजन की पूर्ति होगी. इससे अस्पताल प्रशासन को ऑक्सीजन के सिलेंडरों की गाड़ियों का इंतजार नहीं करना होगा. अभी 1700 ऑक्सीजन के सिलेंडर गाड़ियों से अस्पताल में पहुंच रहे है. ऐसे में देरी होने से सप्लाई प्रभावित होने की आशंका बनी रहती है. टैंक शुरू होने के बाद एक साथ तरल ऑक्सीजन भरी जा सकेगी. 

 

बता दें एसएमएस अस्पताल में अभी कोविड मरीजों को इमरजेंसी में रखने के बाद ऑक्सीजन बेड मिलने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. मरीजों को एक घंटे तक इंतजार करना पड़ रहा है. अस्पताल में 1500 ऑक्सीजन पॉइंट है. अस्पताल के लिए एक और लिक्विड टैंक की मांग की जा रही है. इसके लिए चिकित्सा विभाग को पत्र लिखा गया है. यदि अस्पताल को दूसरा टैंक मिलता है तो एक साथ 3500 सिलेंडरों की ऑक्सीजन मिल सकेगी. अभी अस्पताल में 1700 सिलेंडरों की आपूर्ति हो रही है. जबकि मरीजों की संख्या को देखते हुए अस्पताल में तीन हजार सिलेंडर की आवश्यकता होती है. सवाई मानसिंह अस्पताल में अभी कोविड के मरीजों की संख्या करीब एक हजार है.

अक्षय तृतीया पर बैंड-बाजा-बाराती के बिना होगी जयपुर में शादियां

सवाई मानसिंह अस्पताल में कोविड-19 की व्यवस्थाओं को संभालने के लिए प्रशासन ने नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिया है. अब अतिरिक्त अधीक्षक डॉ एन एस चौहान नोडल अधिकारी के रूप में काम देखेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें