नगर निगम के नतीजे घोषित, कांग्रेस-BJP के हिस्से 2-2 सीटें, 2 पर किसी को बहुमत नहीं

Smart News Team, Last updated: 03/11/2020 11:47 PM IST
  • राजस्थान के जयपुर, जोधपुर और कोटा नगर निगम की 6 सीटों  में दो सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की और दो पर कांग्रेस जीती. 
जयपुर हेरिटेज के 100 परिणामों में बीजेपी को 25 और कांग्रेस को 30 सींटें मिली हैं

जयपुर: राजस्थान के जयपुर, जोधपुर और कोटा नगर निगमों के लिए हुए चुनाव की मतगणना पूरी हो गई है और नतीजे घोषित कर दिए गए हैं. राजस्थान के जयपुर, जोधपुर और कोटा नगर निगम की 6 सीटों पर मुकाबला बराबरी पर छूटा। दो सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की और दो पर कांग्रेस जीती। वहीं 1 सीट पर दोनों के बीच बराबरी रही और एक सीट पर कांग्रेस बहुमत के आंकड़े से सिर्फ 4 सीट दूर रही.

नतीजे:

इन 6 नगर निगमों के चुनाव में जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर में कांग्रेस ने जीत दर्ज की. वहीं जयपुर ग्रेटर और जोधपुर दक्षिण से भाजपा ने जीत दर्ज की। जयपुर हेरिटेज में कांग्रेस बहुमत के आंकड़े से सिर्फ 4 सीट दूर रही. जयपुर हेरिटेज और कोटा दक्षिण में बोर्ड निर्दलीय उम्मीदवारों के सहारे बनेगा.

जयपुर ग्रेटर नगर निगम में 150 सीटों में से बीजेपी ने 88 पर जीत दर्ज की। वहीं कांग्रेस ने 49 और निर्दलीय 13 पर जीते. जयपुर हेरिटेज में 100 सीटों में से कांग्रेस ने 47 सीटों पर जीत दर्ज की। वहीं बीजेपी 42 निर्दलीय 11 पर जीते.

जोधपुर उत्तरी नगर निगम में कांग्रेस की जीत हुई. 80 में से 53 पर कांग्रेस की जीत दर्ज हुई। वहीं बीजेपी ने 19 और 8 पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते. वहीं जोधपुर दक्षिण में भाजपा ने 80 में से 43 पर बीजेपी जीती, कांग्रेस ने 23 और बाकी पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते.

कोटा दक्षिण में 80 वार्ड हैं. यहां भाजपा और कांग्रेस में कांटे की टक्कर ह रही. यहां कांग्रेस और भाजपा दोनों ने 36 सीटें हासिल की है, वहीं 8 सीटों पर निर्दलीय जीते हैं। वहीं कोटा उत्तर के 70 वार्डों में कांग्रेस की जीत हुई. कांग्रेस 47 सीटों पर जीती, भाजपा 14 और निर्दलीय 9 सीट पर जीते हैं.

जयपुर, जोधपुर और कोटा जैसे बड़े शहरों के नगर निगमों पर अब भाजपा का कब्जा नहीं रहा. गहलोत सरकार ने इन शहरों में निगमों को दो हिस्सों में बांट दिया था, जिसके चलते कांग्रेस ने जोधपुर, कोटा में एक-एक निगम भाजपा से छीन लिया है. इन शहरों के निगमों को दो-दो भागों में बांटने का कांग्रेस का मकसद यह था कि कम से कम हर शहर में एक-एक मेयर कांग्रेस का बने. चुनाव में कांग्रेस की यह रणनीति सफल होती नजर आ रही है. अब तक के चुनाव परिणाम पर नजर डालें तो जयपुर हैरिटेज में भाजपा और कांग्रेस दोनों में से किसी को भी बोर्ड बनाने के लिए बहुमत नहीं मिला है.

शाम 5 बजे तक के नतीजेः

राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार, शाम 5 बजे तक घोषित परिणामों के अनुसार चार नगर निगमों में कांग्रेस आगे और बीजेपी ने दो में जीत दर्ज कर ली है. जयपुर ग्रेटर नगर निगम में शाम 5 बजे तक 150 सीटों में से 149 के परिणाम घोषित कर दिए गए हैं. जिनमें से बीजेपी ने 88 पर जीत दर्ज की। वहीं कांग्रेस ने 48 और निर्दलीय 13 पर जीते. शाम 5 बजे तक जयपुर हेरिटेज में 100 में से कांग्रेस ने 47 पर जीत दर्ज की. वहीं भाजपा ने 42 और निर्दलीय 8 सीटों पर जीते. 

आपको बता दें कि तीन शहरों जयपुर, कोटा और जोधपुर में 6 नगर निगमों के चुनाव 29 अक्टूबर और 1 नवबर को हुए थे. शाम 5 बजे तक, जोधपुर उत्तरी नगर निगम में कांग्रेस की जीत हुई. 80 में से 53 पर कांग्रेस की जीत दर्ज हुई। वहीं बीजेपी ने 19 और 8 पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते. वहीं जोधपुर दक्षिण में भाजपा ने 80 में से 41 वार्ड जीते, कांग्रेस ने 23 और बाकी पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते.

कोटा दक्षिण को भाजपा का गढ़ माना जाता है. इस क्षेत्र में 80 वार्ड हैं. यहां भाजपा और कांग्रेस में कांटे की टक्कर है. यहां कांग्रेस और भाजपा दोनों ने 36 सीटें हासिल की है, वहीं 8 सीटों पर निर्दलीय जीते हैं। वहीं, उत्तर के 70 वार्डों में कांग्रेस की जीत साफ दिख रही है. जहां कांग्रेस 47, भाजपा 14 और निर्दलीय 9 सीट जीते हैं.

काउंटिंग सुबह 9 बजे से शुरू हुई. जयपुर में राजस्थान और कॉमर्स कॉलेज में 25 अलग अलग कक्षों में 250 टेबलों पर 478 राउंड में 1116 प्रत्याशियो की किस्मत का फैसला होना है. जिला निर्वाचन अधिकारी अंतर सिंह नेहरा ने बताया कि जयपुर हैरिटेज नगर निगम के लिए जिला निर्वाचन विभाग ने मतगणना की व्यवस्था कॉमर्स कॉलेज में की गई है.

राजस्थान पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर लीक करवाने के नाम पर ठगी, एक गिरफ्तार

 जबकि जयपुर ग्रेटर की गणना राजस्थान कॉलेज में हो रही है. इन दोनों ही स्थानों पर काउंटिंग के लिए 25 रिटर्निग अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है. इसमें ग्रेटर के 150 वार्डो के लिए 15 अधिकारी और हैरिटेज के 100 वार्डो के लिए 10 अधिकारी लगे हैं. देर शाम तीनों शहर के छह नगर निगमों के परिणाम आ जाएंगे. इसके बाद ही स्पष्ट हो पाएगा कि इन शहरों में किस पार्टी का परचम लहराएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें