जयपुर में साइबर ठगों ने पेटीएम केवाईसी अपडेट के नाम पर बुजुर्ग का खाता किया साफ

Smart News Team, Last updated: 15/08/2020 07:19 PM IST
  • पेटीएम केवाईसी अपडेट करने के नाम पर साइबर ठगों ने एक बुजुर्ग के खाते से ढ़ाई लाख रुपए साफ कर दिए. ठगी का पता लगने पर बुजुर्ग ने विशेष अपराध एवं साइबर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है.
साइबर ठगों

जयपुर. शहर में इन दिनों साइबर ठग अलग-अलग तरीके से लोगों को निशाना बना रहे हैं. अपनी बातों में फंसा कर ये साइबर ठग लोगों के खातों में रखे पैसे साफ कर जाते हैं. पिछले दिनों में कई ऐसे मामले सामने आए, जहां पर पेटीएम केवाईसी, गिफ्ट वाउचर या लॉटरी का झांसा देकर इन बदमाशों ने लोगों के खाते साफ कर डाले. जब पीड़ितों को अपने साथ हुई ठगी का एहसास होता है, तब तक काफी देर हो चुकी होती है. ठगी का एहसास होने पर लोग थाने में पहुंचकर मुकदमा दर्ज करा रहे हैं. लेकिन, वहां से भी उन्हें कोई राहत नहीं मिल रही है.

साइबर ठगी का एक ऐसा ही मामला जयपुर में सामने आया है. जहां पर पेटीएम केवाईसी अपडेट करने के नाम पर साइबर ठगों ने एक बुजुर्ग के खाते से ढाई लाख रुपए साफ कर दिए. ठगी का पता लगने पर बुजुर्ग ने विशेष अपराध एवं साइबर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है. पुलिस ने बताया कि विद्याधर नगर निवासी 71 वर्षीय प्रेम प्रकाश माथुर के साथ ठगी हुई है.

यूं दिया ठगी को अंजाम

रिपोर्ट के अनुसार पीड़ित के पास एक फोन आया. फोन करने वाले ने खुद को पेटीएम का प्रतिनिधि बताया और उसने पेटीएम केवाईसी अपडेट करवाने के लिये बुजुर्ग को कहा. पीड़ित झांसे में आ गया. इसके बाद बिना ओटीपी आये ही अलग-अलग खाते से दो लाख 47 हजार रुपए निकाल लिए गए. खातों से रुपए निकलने के बाद जब इस बात की जानकारी बुजुर्ग को हुई तो उन्होंने अपने परिजनों को यह बात बताई. इसके बाद परिजन बुजुर्ग के साथ थाने पहुंचें और मामला दर्ज कराया.

इनका कहना है:

लॉकडाउन में लोग ऑनलाइन पेमेंट काफी करने लगे है. यही कारण है कि साइबर ठग लोगों को निशाना बना रहे है. लोगों को यह ध्यान रखने की जरूरत है कि कोई भी बैंक, संस्था या फिर पेटीएम केवाईसी से जुड़ा कोई फोन आये तो किसी प्रकार की जानकारी ना दें. आजकल बिना ओटीपी नम्बर आये भी ठग खातों से रुपए निकाल लेते है. लोगों को सतर्क रहने की जरुरत है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें