दिल्ली-अहमदबाद बुलेट ट्रेन का राजस्थान को बड़ा फायदा, जयपुर समेत बनेंगे इन 9 शहरों में मिलेगा स्टॉप

Swati Gautam, Last updated: Sun, 12th Sep 2021, 4:51 PM IST
  • दिल्ली-अहमदबाद बुलेट ट्रेन का बड़ा फायदा राजस्थान को होगा. राजस्थान के सात जिलों में इसके 9 स्टेशन बनाए जायेंगे जिसमें अलवर, जयपुर, अजमेर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, उदयपुर और डूंगरपुर शामिल होंगे. बुलेट ट्रेन का ट्रैक कुल 875 किलोमीटर में होगा जिसका 75 प्रतिशत हिस्सा यानी 657 किलोमीटर ट्रैक राजस्थान में बिछाया जाएगा.
दिल्ली-अहमदबाद बुलेट ट्रेन का राजस्थान को बड़ा फायदा, जयपुर समेत बनेंगे इन 9 शहरों में मिलेगा स्टॉप (फाइल फोटो)

जयपुर. दिल्ली-अहमदबाद बुलेट ट्रेन का प्रोजेक्ट रफ्तार पकड़ने लगा है. यह प्रोजेक्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महत्वकांक्षी प्रोजेक्ट है. खास बात यह है कि इस बुलेट ट्रेन का सबसे अधिक फायदा राजस्थान को होने वाला है क्योंकि दिल्ली-अहमदबाद बुलेट ट्रेन का ट्रैक कुल 875 किलोमीटर में बिछाया जाएगा. जिसका 75 प्रतिशत हिस्सा राजस्थान में आएगा. यानी 657 किलोमीटर ट्रैक राजस्थान में बिछाया जाएगा जिसमें 7 जिलों में नौ स्टेशन बनाए जायेंगे. जो कि अलवर, जयपुर, अजमेर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, उदयपुर और डूंगरपुर में होंगे.

दिल्ली-अहमदबाद हाई स्पीड बुलेट ट्रेन इसलिए भी खास मानी जा रही है क्योंकि यह दिल्ली से लेकर अहमदाबाद तक का सफर केवल 3 घंटे में पूरा कर देगी. मालूम हो कि इस बुलेट ट्रेन की रफ्तार 350 किलोमीटर प्रति घंटा होगी. यह प्रोजेक्ट धीरे धीरे आकार लेना लगा है. सर्वे रिपोर्ट की जानकारी अनुसार जल्द ही इसकी डीपीआर तैयार की जाएगी. नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड के अधिकारी डीपीआर पर काम कर रहे हैं. जानकारी अनुसार दिल्ली से अहमदबाद जाने वाली बुलेट ट्रेन का ट्रैक पांच नदियों के ऊपर से गुजरेगा.

NEET 2021: राजस्थान में परीक्षा में धांधली कराने वाले गिरोह का खुलासा, 10 गिरफ्तार

दिल्ली से अहमदाबाद जाने वाली हाई स्पीड बुलेट ट्रेन का हाई स्पीड ट्रैक भारत में पहली बार तैयार हों है इसलिए इसकी तकनीकी चीज़ों पर और ढांचे पर अतिरिक्त सावधानी बरती जा रही है. बताया जा रहा है कि कुछ संबंधित तकनीकी कारणों से इस ट्रेन का पूरा ट्रैक एलिवेटेड बनाया जाएगा. सूचना अनुसार इस पूरे प्रोजेक्ट के लिए हेलिकॉप्टर से पूरे ट्रैक का सर्वे किया जाएगा. जिसके आधार पर रिपोर्ट तैयार की जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें