जयपुर: बिजली कंपनी की इंजीनियर और सहायक ने ली 2000 की रिश्वत, हुए गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 11/12/2020 04:36 PM IST
  • भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने जयपुर में बिजली कंपनी की सहायक इंजीनियर बीना चौधरी और उनके कार्यालय में तकनीकी सहायक के पद पर कार्यरत जितेंद्र सिंह को दो हजार की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है.
जयपुर में रिश्वत का मामला आया सामने

जयपुर: जयपुर में आए दिन भ्रष्टाचार से जुड़े मामले सामने आ रहे हैं. हाल ही में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने जयपुर में बिजली कंपनी की सहायक इंजीनियर बीना चौधरी और उनके कार्यालय में तकनीकी सहायक के पद पर कार्यरत जितेंद्र सिंह को दो हजार की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के साथ ही दोनों से रिश्वत की रकम भी बरामद कर ली गई है. बताया जा रहा है कि इससे पहले यह दोनों रिश्वत में दो हजार रुपये वसूल चुके थे.

इस बारे में बात करते हुए भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने बताया कि आरोपी बीना चौधरी सोढाला में स्थित चंबल पावर हाउस में मीटर टेस्टिंग विभाग में सहायक अभियंता के पद पर मौजूद हैं. वहीं, तकनीकी सहायक जितेंद्र तोमर एईएन कार्यालय में हैं. दोनों के खिलाफ डीसीएम अजमेर रोड के रहने वाले राजेश मालू ने शिकायत दर्ज कराई थी. राजेश मालू ने बताया था कि वह सोलर पैनल लगाने का काम करते हैं, जिसके लिए मीटर टेस्टिंग की आवश्यकता होती है.

जयपुर: नए साल के मौके पर जयपुर एयरपोर्ट से शुरू होगी सात नई फ्लाइट

राजेश मालू ने बताया कि मीटर टेस्टिंग के लिए बीना चौधरी अपने सहायक जितेंद्र सिंह के साथ मिलकर मीटर की टेस्टिंग जल्द कराने के लिए 1 हजार रुपये प्रति मीटर टेस्टिंग के हिसाब से रिश्वत मांग रही थी. राजेश को चार मीटर टेस्टिंग कराने थे, जिसके लिए उससे चार हजार रुपये मांगे गए. वहीं, एसीबी के मुताबिक राजेश ने बीना चौधरी और जितेंद्र सिंह को संपर्क किया और उस दौरान ही बीना उससे पेटिएम में रिश्वत की रकम ट्रांसफर करने की मांग करने लगी.

राजेश पेटीएम से रिश्वत देने की जगह चंबल पावर हाउस पैसे देने पहुंचा. उसने जैसे ही बीना चौधरी और जितेंद्र सिंह को रिश्वत की रकम दी, तभी डिप्टी एसपी सचिन शर्मा के नेतृत्व में बनी टीम ने बीना चौधरी और जितेंद्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें