राजस्थान की मंत्री ममता भूपेश के नाम से फेसबुक पर फर्जी अकाउंट, मांग रहे पैसे

Smart News Team, Last updated: 04/12/2020 03:29 PM IST
  • राजस्थान के कई आईएएस, आईपीएस, सेना के अधिकारियों सहित कई बड़े अधिकारियों के साथ भी हो चुकी है ऐसी वारदात. बढ़ती साइबर ठगी व जयपुर में बढ़ते साइबर अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए चार नई विंग खोली गई है. निरीक्षक स्तर के अधिकारी को बनाया गया है विंग का इंचार्ज.
राजस्थान की महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश

जयपुर. राजस्थान की महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश के नाम से साइबर ठगों ने फेसबुक पर फर्जी अकाउंट बनाने का मामला सामने आया है. जालसाजों ने मंत्री ममता भूपेश के नाम से फेसबुक पर फर्जी अकाउंट बनाकर उनके परिचितों से मदद के नाम पर रुपए मांगे हैं. ममता भूपेश को जब उनके परिचितों ने फोन पर संपर्क किया, तब जालसाजों की करतूत का पता चला. इस संबंध में ममता भूपेश ने साइबर थाने में मामला दर्ज कराया है.

ममता भूपेश ने बताया कि मामला सामने आते ही साइबर सेल में रिपोर्ट दे देकर फेसबुक अकाउंट भी ब्लॉक करवा दिया है. गौरतलब है कि इससे पूर्व में भी प्रदेश में साइबर ठगों ने आईएएस, आईपीएस, सेना के सेवानिवृत्त व वर्तमान अधिकारियों, प्रोफेसरों व आरएएस अफसरों के फेसबुक पर उनके नाम से फर्जी अकाउंट बनाकर उनके परिचितों से मदद के नाम पर रुपए मांगने के मामले सामने आ चुके हैं. साइबर ठगों इसके साथ ही आईएएस, आईपीएस सहित कई बड़े अधिकारियों को फोन कर खुद को बैंक कर्मचारी बताकर उनके बैंक खाते की जानकारी प्राप्त कर लाखों रुपए की ठगी कर चुके हैं. 

राजस्थान विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष दीपेंद्र सिंह को हार्टअटैक, एसएमएस में भर्ती

प्रदेश सहित देशभर में पिछले एक साल में साइबर ठगी के मामलों में तेजी से वृद्धि हुई है. बढ़ती साइबर ठगी व राजधानी जयपुर में बढ़ते साइबर अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए चार नई विंग खोली गई है. इसके लिए सभी विंग में स्टाफ भी लगा दिया गया है. सभी विंग के इंचार्ज निरीक्षक स्तर के अधिकारी लगाए हैं. थानों में दर्ज होने वाले छोटे साइबर अपराध की जांच यह विंग करेंगी. जिला पूर्व की साइबर विंग गांधी नगर थाना, दक्षिण की अशोक नगर थाना, उत्तर की संजय सर्कल थाना और पश्चिम की बनीपार्क थाना परिसर में खोली गई है. बड़े साइबर अपराध के मामलों का अनुसंधान विशेष साइबर थाना पुलिस ही करेगी. गौरतलब है कि जयपुर में हर दिन साइबर अपराध के दो मामले सामने आ रहे हैं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें