पैसों के खातिर हैवान बने बाप-भाई ने अपने खून की कर दी हत्या, ऐसे हुआ खुलासा

Smart News Team, Last updated: Sat, 21st Aug 2021, 6:36 PM IST
  • दो महीने पहले अपने पिता के फार्म हाउस में स्थित होद में मिले ललित सैनी के शव को अब तक सुसाइड का मामला माना जा रहा था लेकिन पत्नी ने मुहाना थाना में पिता और भाइयों के खिलाफ ललित की हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है. पत्नी का कहना है कि घर में पैसों को लेकर विवाद चलता रहता था जिसके चलते उन्होंने कई बार ललित के साथ मारपीट भी की थी.
पैसों की मांग के चलते पिता और भाइयों ने उतारा मौत के घाट, पत्नी ने कराया मुकदमा दर्ज

जयपुर. घर में काफी समय से चल रहे रुपयों को लेकर विवाद कब हत्या में बदल गया पता नहीं चला. करीब दो महीने पहले जब ललित सैनी का शव उनके पिता के फार्म हाउस में स्थित होद में मिला था तो इसे सुसाइड का मामला बताया जा रहा था लेकिन अब मामले को एक नया मोड़ मिला है. मृतक की पत्नी ने हत्या के आरोप में ससुर और अपने दो देवरों के खिलाफ मारपीट और हत्या समेत अन्य धाराओं में मुहाना थाना में मुकदमा दर्ज कराया है. आरोप है कि आए दिन घर में पिता और भाइयों के साथ पैसों को लेकर आनाकानी चलती ही रहती थी इतना ही नहीं मृतक व्यक्ति के साथ मारपीट भी की जाती थी जिसके चलते ही पिता और भाइयों ने मिलकर ललित की हत्या करा दी.

मृतक की पत्नी का कहना है कि पूरी घटना को एक आत्महत्या का मामला बनाने की साजिश की गई थी. जिस पर पुलिस को यकीन भी हो गया था लेकिन अब पत्नी तुलसी देवी ने कई सबूतों के साथ पुलिस थाने के दरवाजे खड़खड़ाएं हैं. पत्नी को पूरा भरोसा है कि उसके पति की हत्या मृतक की पिता और भाइयों ने मिलकर कराई है. पत्नी का कहना है कि ललित की हत्या के एक दिन पहले भी पिता और भाइयों ने कमरा बंद कर बेल्ट से बुरी तरह पीटा था और अगले दिन फार्म हाउस भी बुलाया गया जिसके बाद सीधा ललित की हत्या की खबर बच्चों को दी.

जयपुर की पुड़िया वाली आंटी को CST टीम ने किया गिरफ्तार, स्मैक बेचने का करती थी धंधा

पत्नी ने बताया कि कुछ दिनों पहले भी मृतक को उसके परिजनों ने बुरी तरह पीटा था जिसके बाद ललित आठ दिनों पर हॉस्पिटल में एडमिट रहा. साथ ही मुहाना पुलिस ने बताया कि होद में ललित का शव मिला था वह इतना भी गहरा नहीं था कि उसमें किसी की मौत हो जाए. इतना ही नहीं परिवार वालों ने शव का पोस्टमार्टम भी नहीं कराया. फिलहाल पुलिस ने मामले में आईपीसी सेक्शन 302, 323, 341 और 387 में मृतक के पिता और दो भाईयों के खिलाफ नामजद केस दर्ज कर लिया है. थानाधिकारी लाखन सिंह मामले की जांच में जुटे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें