जयपुर: रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करते चार गिरफ्तार, पांच इंजेक्शन बरामद

Smart News Team, Last updated: Tue, 18th May 2021, 2:20 PM IST
  • जयपुर की सोडाला थाना पुलिस ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले चार लोगों को गिरफ्तार किया है. ये मरीजों की मजबूरी का फायदा उठाकर 25 से 30 हजार रुपए में इंजेक्शन बेचते थे.
प्रतिकात्मक तस्वीर 

जयपुर. राजधानी में कोरोना महामारी में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले सक्रिय हैं. पुलिस लगातार ऐसे लोगों पर कार्रवाई कर रही है. अब सोडाला थाना पुलिस ने दो नर्सिंगकर्मियों सहित चार लोगों को रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचते हुए पकड़ा है. आरोपियों से पांच इंजेक्शन बरामद किए गए हैं. पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने अभी तक 50 से अधिक इंजेक्शन बेचना कबूला है. एक इंजेक्शन 25 से 30 हजार रुपए में बेचा जा रहा था.

 

एसीपी भोपाल सिंह भाटी ने बताया कि भरतपुर के वैर स्थित वल्लभ नगर निवासी सरगना बलबीर सिंह, करौली के हिंडौन सिटी निवासी पुष्पेंद्र जैतवाल, टोंक के बनेठा निवासी दिलखुश गुर्जर और भरतपुर के बयाना निवासी गोपाल चौधरी को रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के मामले में पकड़ा है. आरोपी जयपुर में अलग-अलग स्थानों पर किराए का कमरा लेकर रहते हैं. पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों से पूछताछ शुरू कर दी है.

तूफान ताऊ-ते को लेकर अलर्ट, जयपुर डिस्कॉम ने बनाई आठ इमरजेंसी टीम

गिरोह में शामिल सभी लोगों के काम बंटे हुए थे. बलवीर जवाहर सर्किल स्थित एक निजी हॉस्पिटल में नर्सिंग कर्मी था. दो माह पहले उसने नौकरी छोड़कर घर पर ही ऑफिस खोल लिया और अस्पतालों में नर्सिंग स्टाफ उपलब्ध करवाता था. गोपाल चौधरी सीके बिरला हॉस्पिटल में नर्सिंग कर्मी है. वह मरीजों की डिमांड पर बलबीर से इंजेक्शन लेकर उन तक पहुंचाता है. पुष्पेंद्र, डिमांड के अनुसार बाजार से इंजेक्शन लेकर बलबीर तक पहुंचाता है. आरोपित दिलखुश कमीशन लेकर इंजेक्शन की सप्लाई करता है.

डीसीपी (दक्षिण) हरेन्द्र महावर ने बताया कि राजस्थान में कोरोना महामारी की घातक लहर के चलते जयपुर शहर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की किल्लत एवं भारी मांग होने के कारण रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी और ऊंची कीमतों पर बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे. इस पर एडिशल डीसीपी अवनीश कुमार, एसीपी भोपाल सिंह भाटी और थानाप्रभारी सतपाल सिंह के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी. सोमवार को एसीपी को सूचना मिली थी कि सोडाला क्षेत्र में स्थित सीतादेवी अस्पताल और पूजा अस्पताल के आस-पास रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाला गिरोह सक्रिय हैं. गिरोह महंगी कीमत में इंजेक्शन बेच रहा हैं. इस पर पुलिस ने बोगस ग्राहक भेजकर इसका सत्यापन किया तो वह सही पाया गया. पुलिस ने आरोपियों को मौके से गिरफ्तार कर लिया. आरोपियों से पूछताछ में कई और खुलासे हो सकते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें