जयपुर के पास दौसा में मूक-बधिर बालिका से गैंगरेप के बाद सड़कों पर उतरे लोग

Smart News Team, Last updated: 19/08/2020 11:02 AM IST
  • मंडावरी थाना इलाके में मूक बधिर नाबालिग बालिका से करीब दो सप्ताह पहले हुए गैंगरेप के मामले ने तूल पकड़ लिया है
प्रतीकात्मक तस्वीर 

जयपुर ,दौसा. राजस्थान में महिलाओं और नाबालिगों से रेप की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं. इन घटनाओं के खिलाफ प्रदेशवासियों में रोश व्याप्त है. हाल ही में दौसा जिले के मंडावरी थाना इलाके में मूक बधिर नाबालिग बालिका से करीब दो सप्ताह पहले हुए गैंगरेप के मामले ने तूल पकड़ लिया है. अब नाबालिग को न्याय दिलाने के लिये भीम आर्मी और बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर उतर कर विरोध प्रदर्शन किया है. घटना के विरोध में दौसा में जगह-जगह धरना और प्रदर्शनों हो रहे है.

सोमवार को भीम आर्मी ने दौसा कलक्ट्रेट पर पड़ाव डाल दिया है. वहीं लालसोट में पूर्व संसदीय सचिव और बीजेपी नेता जितेंद्र गोठवाल ने भी अपने समर्थकों के साथ लालसोट थाने के बाहर सड़क के बीच में बैठकर पुलिस और प्रशासन के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया. प्रदर्शन के कारण सड़क पर यातायात व्यवस्था बिगड़ गई और वाहनों की लंबी कतारें लग गई. प्रदर्शनकारियों ने गैंगरेप पीड़िता को आर्थिक मुआवजा, सरकारी नौकरी और फरार चल रहे अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की और आईजी तथा दौसा कलक्टर को बुलाने की मांग पर अड़े रहे. पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी गोठवाल से समझाइश करते नजर आते रहे, लेकिन वे नहीं माने. आधी रात को जिला कलक्टर और पुलिस अधीक्षक की मध्यस्थता के बाद मामला शांत हो पाया.

कलक्टर-एसपी ने दिया आश्वासन

जितेंद्र गोठवाल के प्रदर्शन के बाद में स्थिति को संभालने के लिए कलक्टर पीयूष समारिया और पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल धरना स्थल पर पहुंचे और गोठवाल को आश्वासन दिया. एसपी ने कहा कि गैंगरेप में कई नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. हालांकि अभी तक 5 से 6 अन्य आरोपी फरार हैं, जिन्हें भी शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा. इसी के साथ पीड़िता को आर्थिक मुआवजा व नौकरी के लिए सरकार तक बात पहुंचाने का आश्वासन दिया. प्रशासनिक अधिकारियों से आश्वासन के बाद लालसोट थाने के बाहर चल रहा धरना प्रदर्शन आधी रात बाद समाप्त हुआ.

वहीं दूसरी ओर दौसा कलक्ट्रेट के बाहर भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को नाबालिग से हुए गैंगरेप के विरोध में धरना प्रदर्शन किया, जो देर शाम तक जारी रहा. रात होने पर भी धरना नहीं हटा तो पुलिस ने मौके पर पुलिस जाब्ता तैनात कर दिया .

अगवा कर ले गए फिर किया बारी-बारी से रेप

आपको बता दें कि दौसा के मंडावरी थाना इलाके के एक गांव में मूकबधिर नाबालिग बालिका को कुछ लोग अगवा करके गांव के ही धार्मिक स्थल पर ले गए और यहां बारी-बारी से उसके साथ रेप किया. जानकारी के अनुसार इस कुकृत्य में करीब एक दर्जन आरोपी बताए जा रहे हैं.

पिता विदेश में करता है मजदूरी, मां रक्षाबंधन पर गई थी पीहर

नाबालिग पीड़िता का पिता विदेश में मजदूरी करता है. वहीं मां रक्षाबंधन पर अपने पीहर गई हुई थी. इसी मौके का फायदा उठाकर 4 अगस्त के दिन आरोपियों ने इस कुकृत्य को अंजाम दिया. जब पीड़िता की मां वापस आई तो ग्रामीणों ने घटना की जानकारी दी. जिसके बाद मंडावरी पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया. पुलिस को बालिका के बयान लेने में भी काफी परेशानी हुई. बाद में मूक बधिर के शिक्षक के माध्यम से पीड़िता के बयान दर्ज किए गए. पुलिस ने इस मामले में सभी नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने पहले दिन ही तीन आरोपी गिरफ्तार कर लिया था. बाद में पुलिस ने अब तक 5 आरोपी गिरफ्तार कर लिए हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें