जयपुर : ब्रिटेन से लौटी युवती मिली स्ट्रेन पॉजिटिव, स्वास्थ्य विभाग सतर्क

Smart News Team, Last updated: Fri, 8th Jan 2021, 1:51 PM IST
  • मेडिकल टीम ने युवती के घर में मिले उसके माता पिता और भाई सहित घरेलू नौकर के भी कोरोना टेस्ट के सैंपल लिए. सभी को रिपोर्ट आने तक कोरेंटाइन रहने के लिए कहा गया है. 23 व 24 दिसंबर को जो लोग ब्रिटेन से जयपुर आए हैं, उनके घर पर मेडिकल टीम मॉनिटरिंग कर रही है.
सांकेतिक फोटो

जयपुर. राजधानी जयपुर में कोरोना के नए स्वरूप स्ट्रेन ने दस्तक दे दी है. यहां तिलक नगर में 18 वर्षीय एक युवती में स्ट्रेन की पॉजिटिव रिपोर्ट सामने आई है. पिछले दिनों यह युवती ब्रिटेन से जयपुर लौटी थी. कोरोना जांच में युवती के पॉजिटिव मिलने पर उसके सैंपल दिल्ली स्थित लैब में भेजे गए थे. इसकी रिपोर्ट गुरुवार को सामने आई, जिसमें युवती में स्ट्रेन की पुष्टि हुई. इससे चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी हरकत में आ गए. 

जयपुर शहर (प्रथम) सीएमएचओ डॉ. नरोत्तम वर्मा के निर्देशन में चिकित्सा विभाग की टीम युवती के तिलक नगर स्थित घर पहुंची. यहां उसे कोरेंटाइन किया गया. मेडिकल टीम ने युवती के घर में मिले उसके माता पिता और भाई सहित घरेलू नौकर के भी कोरोना टेस्ट के सैंपल लिए. सभी को रिपोर्ट आने तक कोरेंटाइन रहने के लिए कहा गया है. गौरतलब है कि तीन दिन पहले ही श्रीगंगानगर जिले में सादुलशहर के एक परिवार के 3 लोग 28 दिसंबर को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. वे 18 दिसंबर को ब्रिटेन से यहां लौटकर आए थे. नए स्ट्रेन की जांच के लिए इन तीनों के सैंपल पुणे भेजे गए थे, जिसके बाद 5 जनवरी को उन तीनों लोगों में स्ट्रेन पाया गया है. इनमें पति-पत्नी और एक बच्चा है. बता दें कि 23 और 24 दिसंबर को भारत आई फ्लाइट्स में आए पैसेंजरों की सूची केंद्र ने राजस्थान सरकार को सौंपी थी. इसमें शुरुआत में 333 पैसेंजर जयपुर के सामने आए थे, लेकिन बाद में दस्तावेजों की जांच की तो कई नाम डबल पाए गए.

जयपुर : बाइक सवार को कुचलकर भागने की कोशिश में ट्रक चालक ने 3 लोगों की जान ली 

बाद में वास्तविक पैंसेंजर्स की संख्या 131 निकली, इनमें 108 यात्रियों की जांच कर ली गई थी. इनकी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई, लेकिन 23 व्यक्तियों की रिपोर्ट आना बाकी था. इनमें गुरुवार को जयपुर की युवती में कोरोना का नया स्ट्रेन होने की पुष्टि हुई. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने 23 व 24 दिसंबर को जो लोग ब्रिटेन से जयपुर आए हैं, उनके घर पर मेडिकल टीम को भेजा था. उन सभी की मॉनिटरिंग की जा रही है. इनको निर्देश दिए गए हैं कि वे 14 दिन तक खुद को पूरी तरह अलग रखें और कोई भी लक्षण मिले तो उसकी सूचना तुरंत मेडिकल टीम को दें.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें