जयपुर: जयपुर के गोविंद देव मंदिर में 26 को मनाई जाएगी राधा अष्टमी

Smart News Team, Last updated: 25/08/2020 07:58 AM IST
  • भाद्रपद शुक्ल अष्टमी पर बुधवार को सर्वार्थसिद्धि योग में मनाया जाएगा राधा अष्टमी. सुबह धूप झांकी खुलने पर होगा अधिवास पूजन, श्रद्धालुओं को मिलेंगे छप्पन भोग के दर्शन. कोरोना के चलते राधा रानी के अभिषेक और झांकी के दर्शन ऑनलाइन कर सकेंगे श्रद्धालु.
गोविंद देव जी के मंदिर में मनाई जाएगी राधा अष्टमी 

जयपुर। जयपुर के गोविंद देव मंदिर में बुधवार 26 अगस्त को राधा अष्टमी धूमधाम से मनाई जाएगी. 26 अगस्त को ही राधे रानी का अभिषेक भी किया जाएगा. कोरोना के चलते श्रद्धालुओं को राधा रानी के अभिषेक और झांकी के ऑनलाइन दर्शन कराए जाने की व्यवस्था की गई है. कोरोना महामारी के चलते श्रद्धालुओं को दूर से ही राधा रानी के दर्शन हो सकेंगे.

इस दौरान मंदिर के सदस्यों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी होगा. साथ ही मास्क लगाना अनिवार्य होगा.

सरकार द्वारा जारी की गई सभी गाइडलाइन का पालन करते हुए ही राधा रानी का जन्म उत्सव मनाया जाएगा. श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के कपाट बंद होंगे, मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश वर्जित होगा. भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि बुधवार को सर्वार्थसिद्धि योग में राधा अष्टमी मनाई जाएगी.

ज्योतिषाचार्य डॉ. रवि शर्मा ने बताया कि राधा अष्टमी पर सुबह 6:07 से दोपहर 1:03 मिनट तक सर्वार्थसिद्धि योग है. वही सुबह 10:40 से दोपहर 1:03 तक अमृत सिद्धि योग रहेगा.

गोविंद देव जी मंदिर के महंत अंजन कुमार गोस्वामी ने बताया कि ब्रह्म मुहूर्त 4:45 से 5 बजे तक है. इसी समय राधा रानी के पूजन होंगे. इसके बाद 21 लीटर दूध, 11 किलो दही, 1 किलो घी, 5 किलो बूरा व 500 ग्राम शहद से तैयार पंचामृत से उनका अभिषेक किया जाएगा.

इस दौरान गोविंद मिश्र द्वारा वेद पाठ किया जाएगा. ठाकुर जी और किशोरी जी को पीले वस्त्र धारण कराकर विशेष अलंकरण के साथ छप्पन भोग की झांकी सजाई जाएगी.

राधा रानी को पंजीरी के लड्डू, मेंवे की बर्फी और पंजीरी का विशेष भोग लगाया जाएगा. मंदिर प्रवक्ता मानस गोस्वामी ने बताया कि सुबह धूप झांकी खुलने पर ठाकुर जी का अधिवास पूजन होगा और छप्पन भोग के दर्शन होंगे.

श्रृंगार झांकी के बाद राधा रानी का जन्मोत्सव मनाया जाएगा. वहीं गोविंद देवजी मंदिर के मातहत राधा माधव, नटवर जी, कुंज बिहारी जी, गोपाल जी नागा, गोपाल जी तालाब, मुरली मनोहर जी व गोपाल जी रोपाड़ा में भी राधाष्टमी सादगीपूर्वक मनाई जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें