गहलोत सरकार के बजट का ग्रासरूट पर असर, गुजरात तक CM अशोक की तारीफ: रघु शर्मा

ABHINAV AZAD, Last updated: Thu, 14th Oct 2021, 4:20 PM IST
  • राजस्थान सरकार में चिकित्सा मंत्री और गुजरात कांग्रेस के प्रभारी रघु शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कामकाज की गुजरात में भी तारीफ हो रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि 2023 चुनाव में कांग्रेस गुजरात में सरकार बनाकर बीजेपी के शासन से जनता को मुक्ति दिलाएगी.
गुजरात कांग्रेस के प्रभारी रघु शर्मा ने कहा कि 2023 चुनाव में कांग्रेस गुजरात में सरकार बनाएगी.

जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कामकाज की गुजरात में भी तारीफ हो रही है. सीएम गहलोत की कार्यशैली की बदौलत 2023 में कांग्रेस गुजरात में सरकार बनाएगी. साथ ही इस बार गुजरात में भी कांग्रेस बीजेपी के शासन से जनता को मुक्ति दिलाएगी. यह कहना है राजस्थान सरकार में चिकित्सा मंत्री और गुजरात कांग्रेस के प्रभारी रघु शर्मा का. साथ ही उन्होंने कहा कि गुजरात में हमारी पार्टी कोरोना संक्रमण के दौरान मरने वाले लोगों का ऑडिट करवा रही है, ताकि सही स्थिति जनता के सामने लाया जा सके.

बताते चलें कि गुजरात प्रभारी के तौर पर रघु शर्मा सीडब्ल्यूसी बैठक में भाग लेने दिल्ली जाएंगे. कांग्रेस नेता से जब नए अध्यक्ष के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि यह फैसला कांग्रेस वर्किंग कमिटी को लेना है. उन्होंने गुजरात सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि गुजरात में जनता 25 साल के कुशासन से मुक्ति चाहती है. उन्होंने आगे कहा कि गुजरात में भी गहलोत सरकार के कामों की तारीफ होती है. बताते चलें कि गुजरात के इंचार्ज के तौर पर रघु शर्मा CWC में शामिल होने दिल्ली जाएंगे. कांग्रेस के नए अध्यक्ष के बारे में रघु शर्मा ने कहा कि इस बारे में फैसला तो CWC को करना है.

इन स्टूडेंट्स को 10000 की स्कॉलरशिप, फिर 2 लाख सालाना की नौकरी दिलाएगी राजस्थान सरकार

गुजरात कांग्रेस के प्रभारी रघु शर्मा ने कहा कि हमारी पार्टी 2023 में फिर से सत्ता में लौटेगी. उन्होंने कहा कि पिछले 25 सालों से गुजरात में बीजेपी की सरकार है. अब यहां की जनता 25 साल के कुशासन से मुक्ति चाहती है. साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस गुजरात में कोरोना की डेथ ऑडिट कर रही है. कार्यकर्ता घर घर जाकर जानकारी ले रहे हैं. कांग्रेस नेता ने कहा कि हम जनता की अदालत में जाएंगे, फैसला जनता को करना है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें