पेंशन खाते में कितनी राशि होगी जमा, 24 अगस्त को ले सकता है सुप्रीम कोर्ट फैसला

Smart News Team, Last updated: Mon, 23rd Aug 2021, 10:48 AM IST
  • पेंशन खाते के लिए वेतन सीमा पर लगी 15 हजार की सीमा को हटाने के लिए ईपीएफओ (EPFO) और केंद्र सरकार द्वारा की गई अपील पर सुनवाई के लिए मामला संविधान पीठ को भेजी जा सकती है. सुप्रीम कोर्ट इस मामले में 24 अगस्त को आदेश जारी कर सकता है.
पेंशन खाते में कितनी राशि होगी जमा, 24 अगस्त को ले सकता है सुप्रीम कोर्ट फैसला

जयपुर. पेंशन खाते के लिए वेतन सीमा पर लगी 15 हजार की सीमा को हटाने के लिए ईपीएफओ(EPFO) और केंद्र सरकार द्वारा की गई अपील पर सुनवाई के लिए मामला संविधान पीठ को भेजी जा सकती है. न्यायधीश यूयू ललित की पीठ ने कहा की इस मामले में ईपीएफओ द्वारा दिए गए तर्क विचार योग्य है, इसलिए मामले को बड़ी बेंच के पास ही भेजना सही रहेगा.  यदि इस मामले में हम कुछ निर्णय देते है तो वह हमेशा संदेह के घेरे में बना रहेगा.  सुप्रीम कोर्ट इस मामले में 24 अगस्त को आदेश जारी कर सकता है. 

यह मामला 2016 में दिए गए फैसले के कारण उठा है जो सुप्रीम कोर्ट के आरसी गुप्ता बनाम केंद्र सरकार मामले में दिया था. ईपीएफओ का तर्क है की सुप्रीम कोर्ट ने सितंबर 2014 में सुनाई गए इस फैसले में कट ऑफ डेट में यह सुनिश्चित नहीं किया था की फंड में कितनी राशि जानी चाहिए.  लेकिन इस फैसले को आधार मानते हुए केरल,राजस्थान और दिल्ली हाईकोर्ट ने कर्मचारी पेंशन (संशोधन) योजना, 2014 को रद्द कर दिया था, और अधिकतम पेंशन योग्य वेतन प्रतिमाह 15,000 किया गया है.

कल्याण सिंह के सम्मान में गहलोत सरकार ने किया दो दिनों के शोक का ऐलान, 23 अगस्त को अवकाश

इस मामले में कोर्ट ने कहा था कि कर्मचारी पर यह पाबंदी नहीं लगाई जा सकती कि वह पेंशन स्कीम में किसी वेतन सीमा के अनुसार ही योगदान दे, वह पेंशन फंड में अधिक भी योगदान कर सकता है. यह किसी भी कर्मचारी द्वारा किए जा रहे अंतिम वेतन के अनुपात में होना चाहिए. 

कट ऑफ डेट नए सदस्य के लिए तय किया गया था इसके अनुसार इस योजना का लाभ लेने के लिए कर्मियों का वेतन 15 हजार रुपये से ज्यादा होना चाहिए. मौजूदा समय में ईपीएफओ में 23 लाख से ज्यादा ऐसे कर्मचारी है जो इस योजना के तहत मिलने वाली हर महीने एक हजार रुपये का लाभ उठा रहे. 2014 में किए गए संशोधन से पहले इस योजना का लाभ उठाने के लिए वेतन की सीमा 6,500 रुपए था. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें