जयपुर पुलिस का मानवीय चेहरा, अपने साथी के मौत पर परिजनों को दिए 1.61 लाख रुपए

Smart News Team, Last updated: 11/08/2020 03:03 PM IST
  • राजस्थान पुलिस का एक मानवीय चेहरा सामने आया है. जिसमें पुलिस कर्मियों ने अपने साथी की मौत के बाद उसके परिजनों की सहायता के लिए 1 लाख 61 हजार रुपए एकत्रित कर उन्हें चेक सौंपा.
परिजनों को चेक सौंपते पुलिसकर्मी

कोरोना के संकट काल में हर किसी को परेशानी का सामना करना पड़ा है. किसी ने कोरोना के कारण अपने परिजन को खो दिए, तो किसी की नौकरी चली गई. लेकिन खास बात यह है कि समाज का हर वर्ग एक-दूसरे को सहायता पहुंचाने की कोशिश कर रहा है, ताकि इस मुश्किल घड़ी का सामना किया जा सके. कोरोना काल में कई मानवीय चेहरे हमारे सामने आए. लेकिन, आज हम आपको जयपुर की एक ऐसी कहानी बताने जा रहे हैं जिसमें पुलिस कर्मियों ने अपने साथी की मौत के बाद उसके परिजनों की सहायता के लिए 1 लाख 61 हजार रुपए एकत्रित किए.

कैंसर से पीड़ित था और कोरोना से चली गई जान

जयपुर के सांगानेर के रहने वाले रवि कुमावत कैंसर से पीडित थे लेकिन कोरोना से जंग हार गए और उनकी जान चली गयी. रवि ने 7 साल पुलिस में सिपाही की नौकरी की. इसके बाद वह सैकेण्ड ग्रेड के टीचर बन गए. लेकिन रवि के जान गवाने के बाद उनके साथी पुलिस कर्मियों ने 1 लाख 61 हजार रुपए एकत्रित कर रवि के परिवार को चेक सौपा. रवि की दो पुत्रियां हैं. उन बेटियों के लिए उनके पिता के साथियों ने आगे भी सहायता करने का भरोसा दिलाया है.

पहले भी कई बार सामने आया पुलिस का ऐसा चेहरा

अक्सर पुलिस का नाम आते ही हमारे सामने उनकी छवि कुछ और ही बन जाती है. लेकिन राजस्थान में पुलिस का इस तरह का मानवीय चेहरा कई बार सामने आया है. कभी अपने मेस में काम करने वाले कर्मचारी के बेटी की शादी में पुलिसकर्मी भात लेकर पहुंचे तो कोरोना के काल में हर संभव पुलिस ने आमजन की सहायता की. यही कारण रहा कि राजस्थान पुलिस के साथ ही अन्य राज्यों की पुलिस की छवि काफी सुधरी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें