जयपुर: कल से शुरू होगा विधानसभा सत्र, मंत्रियों से नहीं पूछा जाएगा कोई सवाल

Smart News Team, Last updated: 13/08/2020 01:07 PM IST
  • कल से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र में दो दिन चलने वाले प्रश्नकाल में 33 विभागों के मंत्रियोंं से कोई सवाल नहीं पूछा जाएगा. चाहें फोन टेपिंग से जुड़ा कोई सवाल हो या अन्य.
विधानसभा

जयपुर में 15वीं विधानसभा के 14 अगस्त से शुरू हो रहे विवादित सत्र के लिए 2 दिन का प्रश्नकाल तय हो गया है. माना जा रहा है कि कुल 461 सवाल अभी तक विधानसभा के रिकाॅर्ड पर लिए गए हैं. लेकिन हैरत की बात यह है कि जनता की तरफ से विधायकों ने 33 विभागों के मंत्रियों से एक भी सवाल नहीं रखा है. किसी सत्र में इतनी बड़ी संख्या में विभागों से जन समस्या या मुद्दे के रूप में एक भी सवाल नहीं करने का यह पहला मामला है. ज्ञात हो कि हर बार चार से पांच विभागों को छोड़कर सभी विभागों से विधायकों द्वारा सवाल किए जाते हैं.

इसमें भी चौंकाने वाली बात यह है कि 17 व 18 अगस्त के प्रश्नकाल के लिए अभी तक चुने गए सवालों में से फोन टैपिंग से जुड़ा सवाल भी हटा दिया गया है. जबकि बीजेपी फोन टैपिंग के मामले पर सरकार को घेरने का ऐलान कर चुकी है. पूर्व मंत्री कालीचरण सर्राफ ने इसका सवाल भी लगा रखा है.

सर्वाधिक सवाल किरण माहेश्वरी के 27 और 25 पूर्व मंत्री वासुदेव देवनानी के रिकाॅर्ड पर लिए गए हैं. इस बार टाॅप-10 मंत्रियों के मामले में भी परम्परा टूटी है. बिजली-पानी और यूडीएच की जगह सर्वाधिक सवाल 54 रघु शर्मा से पूछे गए हैं.

दूसरे नंबर पर बी डी कल्ला हैं, जिनसे बिजली के 27 सवाल किए गए हैं. तीसरे नंबर पर सड़कों से जुड़ा पीडब्लूडी विभाग का है, जिसका अभी कोई मंत्री नहीं है, उसपर लेेकिन सवाल 26 लगाए गए हैं। आपदा प्रबंधन विभाग से टिड्डी दलों के हमले और नुकसान पर 6, कोरोना काल में श्रमिकों के राजस्थान आने-जाने पर आधारित 6 सवाल हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें