जयपुर: जीजा-साले ने मिलकर शोरुम से चुराए 90 मोबाइल, जीजा मेरठ से हुआ गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 09/08/2020 01:56 PM IST
  • जयपुर में यूपी से आकर चोरी को अंजाम देने वाले आरोपी को मेरठ पुलिस ने गिरफ्तार करते हुए 35 मोबाइल बरामद किये हैं. आरोपी उत्तर प्रदेश के मेरठ से आकर अपने साले के साथ जयपुर में चोरी की वारदात को अंजाम दिया था.
जयपुर पुलिस

जयपुर: अपराधी कितनी भी दूर भाग जाए, लेकिन वह पुलिस से नहीं बच सकता. क्योंकि कानून के हाथ लंबे होते हैं. कुछ ऐसा ही एक मोबाइल चोर के साथ हुआ. दरअसल, जयपुर के ब्रह्मपुरी थाना इलाके में स्थित चंदवाजी इलेक्ट्रॉनिक मोबाइल शोरूम से मोबाइल चोरी के आरोपी को यूपी की मेरठ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. जो चोरी के मोबाइल बेच रहा था.

जानकारी के अनुसार, मेरठ के एक ऑटो चालक समीर ने जयपुर आकर अपने साले इमरान के साथ 24 जुलाई को मोबाइल शोरूम में चोरी की वारदात को अंजाम दिया था. दोनों ने मिलकर 90 मोबाइल और अधिक तादाद में मोबाइल एसेसरीज चुराकर फरार हो गए थे. आरोपियों ने पुलिस से बचने के लिए राजस्थान से बाहर जाने का फैसला लिया, ताकि पुलिस उन तक नहीं पहुंच सके. जिसके बाद आरोपी समीर चोरी के माल को उत्तर प्रदेश के मेरठ लेकर पहुंच गया और वहां मौका देखकर बेचने लगा.

इधर, जयपुर पुलिस को मोबाइलों के आईपी एड्रेस से सूचना मिली कि चोरी के मोबाइल उत्तर प्रदेश के मेरठ में बेचे जा रहे है. जयपुर पुलिस ने इसकी सूचना मेरठ पुलिस को दी. सूचना मिलने पर मेरठ पुलिस ने कार्रवाई करते हुए खत्ता रोड गणेशपुरी मेरठ निवासी समीर को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने उसके कब्जे से चोरी हुए अलग-अलग कंपनी के 35 मोबाइल बरामद किए हैं. बरामद हुए मोबाइलों की क़ीमत करीब 10 लाख रुपये बताई जा रही है.

बता दें कि चोरी के आरोपी को जयपुर लाने के लिए ब्रह्मपुरी थाना पुलिस मेरठ पहुंच गई है. पुलिस आरोपी से पूछताछ कर वारदात में शामिल दूसरे आरोपी की तलाश कर रही है.

वहीं आरोपी समीर ने पुलिस को पूछताछ के दौरान बताया कि उसने चोरी की चार मोबाइल बेच दिए हैं. बाकी बचे मोबाइल उसके साले इमरान के पास हैं. 35 मोबाइल पुलिस ने उसके पास से बरामद किए हैं. पुलिस इमरान की तलाश कर रही है. समीर ने बताया कि जयपुर में उसका सुसराल है. वह कुछ दिनों पहले ससुराल आया था. जहां साले इमरान के साथ मोबाइल शोरुम से चोरी करने का प्लान बनाया और वारदात को अंजाम दिया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें