जयपुर: प्लेन में अधिकारियों के लिए बिजनेस क्लास यात्रा पर लगी रोक

Smart News Team, Last updated: 03/09/2020 09:25 PM IST
  • सरकारी काम से जुड़े यात्राओं को न्यूनतम रखे जाने का निर्देश एग्जीक्यूटिव और बिजनेस क्लास की यात्रा पर लगा पूरी तरह प्रतिबंध.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

जयपुर। कोरोना महामारी देखते हुए सरकार अपने खर्चों को कम करने के लिए प्लेन में बिजनेस क्लास की यात्रा पर रोक लगा दी है. राजस्थान सरकार ने प्लेन में बिजनेस क्लास और एग्जीक्यूटिव क्लास की यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है. इसके अलावा सरकारी यात्रा पर किए जाने वाले खर्च को भी न्यूनतम रखे जाने का निर्देश दिया है. बुधवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोर्णाक नगर में अधिकारियों के साथ बैठक की. उन्होंने बैठक के दौरान तमाम सारी योजनाओं व खर्चों को लेकर बात की. इस दौरान अधिकारियों द्वारा अलग-अलग मदों में खर्च को कम किए जाने को लेकर सुझाव भी लिए गए जिसमें कुछ सुझाव पर मुहर भी लगी.

मुख्यमंत्री ने बिजनेस क्लास में यात्रा किए जाने को पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है

इसके अलावा शत-प्रतिशत स्टेट फंड से नए कार्यालय को खोले जाने की स्वीकृति पर फिलहाल रोक लगा दी गई है. कोरोना के दौरान हो रहे अतिरिक्त खर्च को देखते हुए अलग-अलग मदों में कटौती करने का निर्णय लिया गया. अन्य मदों से खर्च को कम करने मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत किए जाने का निर्देश दिया गया. इस दौरान कंप्यूटर और स्टेशनरी जैसे खर्चों में कटौती किए जाने का निर्देश दिया गया.

अभी इकोनामी क्लास में ही हवाई यात्रा कर सकेंगे सरकारी अधिकारी

प्रदेश सरकार ने कोरोना काल में सरकारी खर्चों को कम किए जाने के लिए बिजनेस क्लास यात्रा पर रोक लगा दी है. इस दौरान अब सरकारी कार्यों के लिए यात्रा करने वाले अधिकारियों को बिजनेस क्लास में यात्रा करने को नहीं मिलेगा. अब सरकारी काम से जुड़े यात्राओं को न्यूनतम करते हुए इकोनामी क्लास में ही हवाई यात्रा किए जाने का अधिकारियों को निर्देश दिया गया.

एग्जीक्यूटिव और बिजनेस क्लास में यात्रा पूरी तरह प्रतिबंधित कर दी गई है.

साथ ही विमान किराए पर लेने और राजकीय खर्च पर विदेश यात्रा किए जाने पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया है. यानी नेता या अधिकारी सरकारी खर्चे पर विदेश यात्रा नहीं कर सकेंगे. इसके लिए उन्हें अब अपनी जेब ढीली करनी होगी. विदेश जाने से पहले राज्य सरकार से अनुमति लेनी होगी।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें