जयपुर: राजधानी बनी आग का दरिया, आसमान उगल रहा है आग

Smart News Team, Last updated: 20/09/2020 09:45 AM IST
  • जयपुर सहित प्रदेशभर में मानसून की विदाई अंतिम दौर है. आगामी आठ से दस दिनों में प्रदेश से मानसून पूरी तरह से प्रदेश से विदा हो जाएगा. बारिश का अलर्ट पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान में जारी किया था,परंतु बारिश से आमजन को राहत नहीं मिली. इससे गर्मी के साथ-साथ उमस से आमजन को परेशान होना पड़ रहा है.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

जयपुर| जयपुर सहित प्रदेशभर में मानसून की विदाई अंतिम दौर है. आगामी आठ से दस दिनों में प्रदेश से मानसून पूरी तरह से प्रदेश से विदा हो जाएगा. हालांकि मौसम विभाग ने बीते पांच दिनों से फिर से बारिश का अलर्ट पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान में जारी किया था, परंतु बारिश से आमजन को राहत नहीं मिली.

इससे गर्मी के साथ-साथ उमस से आमजन को परेशान होना पड़ रहा है. राजधानी जयपुर में सूर्यदेव के तेवर तीखे नजर आए. तेज चिलचिलाती धूप के बीच तापमान 31 डिग्री तक पहुंच गया. वहीं शुक्रवार का अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

चुरू में तापमान सबसे अधिक

चुरू का तापमान 40.7, श्रीगंगानगर का 39.5, फलौदी का 38.2, पिलानी का 39.3,अलवर का 38.8, बाड़मेर का 39.1, जैसलमेर का 37.5 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया. चुरू का तापमान प्रदेश में सबसे अधिक रहा. बीते 24 घंटे में आज सुबह तक भीलवाड़ा में 30 एमएम, डबोक में 0.8, माउंटआबू में 5 एमएम बारिश दर्ज की गई.

जयपुर: नशे के सौदागरों व तस्कर माफियाओं के खिलाफ चलेगा अभियान

तापमान बढऩे की है प्रबल संभावना

मौसम विभाग के मुताबिक वर्तमान समय में मानसूनी ट्रफ का पश्चिमी हिस्सा हिमालय की तलहटी में है. अंतिम सप्ताह में मानसून का लौटना तय है. पूर्वी राजस्थान में कुछ हिस्सों में बारिश होगी. सितम्बर के अंतिम दस दिनों में तापमान सामान्य से अधिक रहने का पूर्वानुमान है, जिससे गर्मी बढ़ेगी. नमी रहने से उमस का भी असर देखने को मिलेगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें