जयपुर कलेक्ट्रेट का बड़ा फैसला, नहीं होगी पीड़ित महिलाओं की सुनवाई, जानें मामला

Smart News Team, Last updated: Thu, 8th Jul 2021, 12:02 PM IST
  • जयपुर जिला कलेक्ट्रेट में अब महिलाओं की सुनवाई नहीं होगी. पीड़ित महिलाओं के लिए जयपुर कलेक्ट्रेट में गरिमा हेल्पलाइन चलाई जाती थी जिसे अब बंद करने का फैसला लिया गया है. 
जयपुर कलेक्ट्रेट से चलने वाली गरिमा हेल्पलाइन पुलिस हेल्पलाइन में मर्ज हुई.

जयपुर. राजस्थान की राजधानी में एक बड़ा बदलाव होने जा रहा है. जयपुर जिला कलेक्ट्रेट में अब महिलाओं की सुनवाई नहीं होगी. इस बात को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है. दरअसल जयपुर कलेक्ट्रेट परिसर में संचालित महिला सहायता से संबंधित गरिमा हेल्पाइन को पुलिस की तरफ से संचालित की जा रही गरिमा हेल्पलाइन 1090 में मर्ज कर दिया गया है. गरिमा हेल्पलाइन को कलेक्ट्रेट 8 साल से चला रहा था जिसे अब पुलिस की हेल्पलाइन के साथ जोड़कर चलाने का फैसला किया गया है.

जयपुर जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा का कहना है कि गरिमा हेल्पलाइन 7891091111 को पुलिस की गरिमा हेल्पलाइन 1090 में जोड़ दिया गया है. कलेक्टर का कहना है कि महिला सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए गरिमा हेल्पलाइन को 8 साल पहले शुरू किया गया था. इस हेल्पलाइन पर शिकायते लेने के बाद उन्हें रजिस्टर करके पीड़िता को मदद पहुंचाने के लिए संबंधित को भेजा जाता था. कलेक्टर के मुताबिक वर्तमान में इस हेल्पाइन नंबर पर हर दिन 4 या 5 मामले ही मिल रहे थे जिसमें अधिकतर पुलिस को ही भेजे जा रहे थे. इसी कारण से जयपुर कलेक्ट्रेट परिसर में स्थित गरिमा हेल्पलाइन को पुलिस हेल्पलाइन में जोड़ने का फैसला किया गया है.  

सरकारी नौकरी की परीक्षा में आया बड़ा बदलाव, अब ऐसे होंगे एग्जाम, जानें डिटेल्स 

बता दें कि महिलाओं की मदद के लिए पुलिस की गरिमा हेल्पलाइन 1090 पूरी तरह से 24 घंटे कार्यरत हैं. कलेक्ट्रेट हेल्पलाइन और पुलिस की हेल्पलाइन के जुड़ने से तेजी से सहायता उपलब्ध कराई जा सकेगी. कलेक्ट्रेट की हेल्पलाइन मोबाइल नंबर को पुलिस कंट्रोल रुम को सौंप दिया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें