जयपुर कमिश्नरेट पुलिस की ड्रग माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई, चार तस्कर गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: Sun, 21st Mar 2021, 6:47 PM IST
  • जयपुर कमिश्नरेट पुलिस ने चार तस्करों को गिरफ्तार कर भारी मात्रा में मादक पदार्थ सहित करीब आठ लाख नकद बरामद किए है.
जयपुर कमिश्नरेट पुलिस की ड्रग माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई, चार तस्कर गिरफ्तार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर: कमिश्नरेट की सीएसटी टीम ने करणी विहार, वैशाली नगर और सिंधी कैंप थाना इलाके में कार्रवाई कर चार तस्करों को गिरफ्तार कर भारी मात्रा में मादक पदार्थ सहित करीब आठ लाख नकद बरामद किए है. पुलिस ने आरोपियों के पास से 1 किलो 700 ग्राम अफीम, 5 किलो 815 ग्राम गांजा, 249 ग्राम स्मैक, 15.6 ग्राम विदेशी गांजा और 4.40 ग्राम मार्डन ड्रग्स बरामद की है. तस्करों से बरामद मादक पदार्थों की कीमत लाखों रुपए बताई जा रही है. कमिश्नरेट की सीएसटी टीम ने यह कार्रवाई अलग-अलग थानों इलाकों में की है.

पुलिस कमिश्नर आंनद श्रीवास्तव ने बताया कि ऑपरेशन क्लीन स्वीप के तहत स्पेशल टीम ने सिंधी कैंप इलाके में पहली कार्रवाई करते हुए आरोपित लालाराम गुर्जर (38), रोहित चौधरी (21) निवासी मनोहरपुर को गिरफ्तार कर कब्जे एक किलो सात सौ ग्राम अफीम बरामद की गई है. आरोपितों से पूछताछ में सामने आया है कि ये अफीम की पपड़ी बनाकर गुड़ का आकार देते हैं. ताकि किसी को शक नहीं हो. ये लोग मनोहरपुर से ही अफीम खरीदकर जयपुर में बेचने के लिए लाए थे.

नवजीवन क्रेडिट कोऑपरेटिव घोटाले में मुख्य आरोपियों की 4 लग्जरी कार SOG ने पकड़ा

वहीं दूसरी कार्रवाई करणी विहार इलाके में गिरधारीपुरा हुई, जहां से आरोपी मोहम्मद अली उर्फ बबलू (45) निवासी चुरु हाल श्याम विहार को गिरफ्तार कर कब्जे से 5 किलो 815 ग्राम गांजा और 249 ग्राम स्मैक बरामद किया। इसके अलावा 7.99 लाख रुपए भी बरामद किए. आरोपित मोहम्मद अली ने मादक पदार्थ की तस्करी कर कमाए रुपयों से पिछले दिनों नई लग्जरी कार खरीदी है. वह छोटी पुडियों में स्मैक भरकर जयपुर में सप्लाई करता है. तीसरी कार्रवाई वैशाली नगर में खातीपुरा पुलिया के नीचे की गई, जहां चुरु निवासी रविंद्र सिंह (25) को गिरफ्तार कर 4.40 ग्राम मार्डन ड्रग्स और 15.6 ग्राम विदेशी गांजा बरामद किया गया. पूछताछ में सामने आया कि रविंद्र सिंह मोबाइल की दुकान करता है. वह नशा करने वालों के बीच विदेशी गांजे वाले के नाम से जाना जाता है. वह 3000 रुपए प्रति 10 ग्राम के हिसाब से गांजा बेचता है.

पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी के कारण अब हवाई सफर भी होगा महंगा

ये रहे कार्रवाई में शामिल

तीनों कार्रवाई एडिशनल डीसीपी सुलेश चौधरी के सुपरविजन में पुलिस इंस्पेक्टर खलील अहमद के नेतृत्व में की गई. इसमें कांस्टेबल गिरधारीलाल ने अहम भूमिका निभाई. टीम में सीआई जयसिंह बसेरा, सब इंस्पेक्टर राजेश कुमार बुढ़ानिया, सब इंस्पेक्टर किरणजीत सिंह कौर शामिल थे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें