जयपुर: सहकारी भूमि विकास बैंक ने ऋणी किसानों को दी राहत,एक मुश्त समझौता योजना

Smart News Team, Last updated: 15/08/2020 08:15 AM IST
  • जयपुर के सहकारी भूमि विकास बैंकों से ऋण लेने वाले किसानों को कोरोना संक्रमण के चलते बड़ी राहत देते हुए एक मुश्त समझौता योजना की स्वीकृति जारी हुई है. इस योजना में अवधिपार ऋणी किसानों को 50 प्रतिशत ब्याज माफ किया जाएगा.राजस्थान में 239 करोड़ रूपए का ब्याज होगा माफ
किसान

राजस्थान के सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने प्रदेश के किसानों को बड़ी सौगात दी है.मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि सीएम गहलोत किसानों के प्रति संवेदनशील है.किसानों को ऋण का चुकारा करने में हो रही परेशानियों के चलते राहत देने के निर्देश दिए थे. इसके बाद एक मुश्त समझौता योजना की स्वीकृति जारी की गई है. प्राथमिक सहकारी भूमि विकास बैंकों के सभी प्रकार के कृषि एवं अकृषि ऋण जो 1 जुलाई, 2019 तक अवधिपार हो चुके हैं. ऐसे अवधिपार श्रेणी के 60 हजार से अधिक किसानों को लाभ मिलेगा. ऐसे किसानों को 30 नवम्बर, 2020 तक अपना ऋण चुकाना होगा.ऐसे अवधिपार ऋणी किसान जिनकी मृत्यु हो चुकी है, उनके परिवार को किसान की मृत्यु तिथि से सम्पूर्ण बकाया ब्याज, दण्डनीय ब्याज और वसूली खर्च को पूर्णतया माफ कर राहत दी गई है. उन्होंने बताया कि प्रदेश में कार्यरत 36 प्राथमिक सहकारी भूमि विकास बैकों द्वारा किसानों को कृषि कार्यों के लिए दीर्घकालीन कृषि ऋण दिया जाता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें