जयपुर क्राइम कंट्रोल : अपराधियों के पीछे दौड़ेगी पुलिस की 60 चेतक एक्सप्रेस

Smart News Team, Last updated: 03/12/2020 02:58 PM IST
  • जयपुर में दिन में 70 जगहों पर तो रात में 60 स्थानों पर नाकाबंदी रहती है. कमिश्नरेट में मौजूद कुल 60 चेतक वाहनों से रोजाना 1500 संदिग्ध दिखने वाली वाहनों की जांच की जाएगी. वाहनों की जांच कर इसकी रिपोर्ट रोजाना कंट्रोल रूम को भेजना होगा.
फाइल फोटो

जयपुर. शहर में बढ़ते अपराधों पर लगाम लगाने के लिए पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था में कुछ बदलाव किया है. संदिग्धों को पकड़ने के लिए अब पुलिस की चेतक गाड़ी संदिग्ध वाहनों पर नजर रखेगी. पुलिस की चेतक वाहनों से रोजाना 1500 संदिग्ध दिखने वाली वाहनों की जांच की जाएगी. आए दिन हो रहे चोरी और लूट की वारदातों को देखते हुए पुलिस ने यह कदम उठाया है. 

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त राहुल प्रकाश ने बताया कि सभी थानों की चेतक वाहनों को अब रोज 25-25 संदिग्ध नजर आने वाले वाहनों को चेक करने के निर्देश दिए गए हैं. कमिश्नरेट में कुल 60 चेतक वाहन हैं. इन वाहनों से कुल 1500 वाहनों की जांच कर इसकी रिपोर्ट रोजाना कंट्रोल रूम को भेजना होगा. 

नहीं रहे 'मसालों के बादशाह' MDH के मालिक महाशय धर्मपाल

इसके अलावा नाकाबंदी में तैनात पुलिसकर्मी भी बदमाश और संदिग्धों पर नजर रखेंगे. उन्होंने कहा कि नफरी की कमी को पूरा करने के लिए सुबह और दोपहर में थाना पुलिस की मदद के लिए पुलिस लाइन से 150-150 जवान उपलब्ध कराए जाएंगे. इसके अलावा रोज शाम को मेट्रो रेल, चारों दुर्घटना थाना और पर्यटक थाना पुलिस भी गश्त में सहयोग करेगी.

दिन में 70 और रात में 60 जगह नाकाबंदी : अतिरिक्त पुलिस आयुक्त ने बताया कि रोज दिन में 70 जगहों पर समय बदलते हुए सख्त नाकाबंदी कराई जा रही है. वहीं, रात में 60 स्थानों पर नाकाबंदी रहती है. कुछ संदिग्ध स्थानों पर नाकाबंदी में 15 से 20 पुलिसकर्मी तैनात रहते हैं. वहीं, एक अधिकारी और 6 पुलिसकर्मी नाकाबंदी में तैनात रहते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें