जयपुर: गहलोत के मंत्री खाचरियावास से ईडी ने की 6 घंटे से ज्यादा पूछताछ

Smart News Team, Last updated: 13/08/2020 04:45 PM IST
  • जयपुर स्थित ईडी कार्यालय में पूछताछ पूरी होने के बाद बाहर निकले प्रताप सिंह खाचरियावास ने मीडिया से बातचीत में कहा कि उनका पर्ल ग्रुप से कोई लेना-देना नहीं है.
प्रताप सिंह खाचरियावास

राजस्थान के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास से प्रवर्तन निदेशालय ने बुधवार को देर रात करीब 6 घंटे तक पूछताछ की. जैसलमेर में जमीनों की खरीद-फरोख्त में वित्तीय लेन-देन में गड़बड़ी का आरोप मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास पर लगा था. ऐसे में ईडी की ओर से आए नोटिस पर जवाब देने खाचरियावास शाम करीब 5 बजे जयपुर में ईडी के दफ्तर पहुंचे. जहां पर उनसे पूछताछ शुरु हुई, जो देर रात करीब 11 बजे तक चली. इस दौरान ईडी के अधिकारियों ने उनसे कई सवाल-जवाब किए.

इधर, ईडी कार्यालय में पूछताछ पूरी होने के बाद बाहर निकले प्रताप सिंह खाचरियावास ने मीडिया से बातचीत में कहा कि उनका पर्ल ग्रुप से कोई लेना-देना नहीं है. साथ ही किसी भी तरह की वित्तीय गड़बड़ी नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि राजनीति के षडयंत्र के कारण केंद्र सरकार एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है और यही कारण है कि उनको नोटिस दिया गया. उन्होंने कहा कि आगे जब भी प्रवर्तन निदेशालय उन्हें पूछताछ के लिए बुलाएगा वे जरूर पहुंचेंगे. वहीं, विधानसभा सत्र से जुड़े सवाल पर कहा कि 14 अगस्त को विधानसभा में कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से एकजुट दिखाई देगी. जनता के विश्वास पर सरकार खरी उतर रही है. राजस्थान की सरकार पूरे पांच साल जनता की सेवा करेगी.

गहलोत के कई करीबियों पर कसा है शिकंजा

दरअसल, 13 जुलाई को जब कांग्रेस विधायक दल की बैठक सीएम हाउस में बुलाई गई और उसके बाद विधायकों की बाड़ाबंदी की जानी थी. उसी दौरान सीएम अशोक गहलोत के कई करीबियों पर ईडी और आयकर विभाग की कार्यवाही होने लगी. सीएम गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत पर भी प्रवर्तन निदेशालय ने छापा मार कार्यवाही की थी. इसके बाद सीएम गहलोत और कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने भाजपा पर सत्ता के दुरुपयोग का आरोप भी लगाया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें