जयपुर: बिजली विभाग ने 40 हजार सरकारी विद्यालयों से वसूला अधिक बिजली बिल

Smart News Team, Last updated: 15/09/2020 03:36 PM IST
  • जयपुर. शिक्षा मंत्री डोटासरा की चिट्ठी के बाद हरकत में आया विद्युत विभाग, प्रदेश के 40 हजार से अधिक विद्यालयों से अधिक बिजली बिल वसूलने के मामले सामने आया है. फिलहाल आयोग ने अधिक बिल वसूली को लेकर कंपनी को नोटिस भेज दिया है.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

जयपुर। प्रदेश के 40000 से अधिक सरकारी विद्यालयों से बिजली विभाग द्वारा अधिक बिजली बिल वसूले जाने का मामला प्रकाश में आया है. जिसको लेकर राज्य शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने विद्युत कंपनियों के खिलाफ राजस्थान विद्युत विनियामक आयोग में शिकायत की है.

मंत्री द्वारा लिखित रूप से शिकायत किए जाने के बाद बिजली विभाग भी हरकत में आ गया है. इसके बाद विद्युत विनियामक आयोग ने बिजली की वसूली करने वाली कंपनियों को नोटिस भेजकर रिपोर्ट तलब करने का निर्देश जारी कर दिया है. दरअसल राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने सरकारी विद्यालयों से नॉन डोमेस्टिक के बजाय घरेलू श्रेणी में बिजली का बिल वसूलने के लिए फरवरी के आदेश का पालन कराने के लिए पत्र लिखा था. जिसमें सरकारी विद्यालयों से अधिक बिल की वसूली रुकवाने को लेकर बात कही गई थी. फरवरी से अब तक कंपनियों द्वारा नॉन डोमेस्टिक श्रेणी में बिजली बिल वसूला जा रहा था.

पत्र लिखे जाने के बावजूद भी कंपनियों द्वारा यह बिजली बिल वसूला गया है. इस तरह कंपनियों द्वारा लगभग 40,000 से अधिक विद्यालयों से डोमेस्टिक की बजाय नॉन डोमेस्टिक श्रेणी में बिजली का बिल वसूला जा रहा गया है.इसे लेकर डोटासरा ने कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए दोबारा पत्र लिखा है.

जयपुर: किशोर गृह से खिड़की तोड़कर चार बालअपचारी हुए फरार

डोटासरा द्वारा पत्र लिखे जाने के बाद आयोग के न्यायिक सदस्य पृथ्वीराज व सदस्य एससी दिनकर ने मामले को संज्ञान में लिया. उन्होंने सचिव को बिजली कंपनियों से तथ्यात्मक रिपोर्ट तलब करते हुए स्पष्टीकरण मांगा है. साथ ही आयोग ने 15 दिनों के भीतर स्पष्टीकरण देते हुए आदेश का पालन किए जाने का निर्देश दिया है. आयोग के अध्यक्ष श्रीमत पांडेय ने भी सचिव को इस मामले में कार्रवाई शुरू किए जाने का निर्देश दिया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें