जयपुरः राजस्थान में सड़कों की गुणवत्ता को लेकर प्रदेश की गहलोत सरकार हुई सख्त

Smart News Team, Last updated: 09/08/2020 03:33 PM IST
  • राजस्थान में सड़कों की गुणवत्ता को लेकर प्रदेश की गहलोत सरकार ने सख्ती दिखाई है. मुख्यमंत्री ने सर्वाधिक खराब सड़कों की मरम्मत एवं उन्नयन के कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर किए जाने के आदेश दिए हैं.
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

जयपुर. राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने अपने निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सार्वजनिक निर्माण विभाग की समीक्षा बैठक को संबोधित किया. इस दौरान सार्वजनिक निर्माण विभाग के सभी जिलों के मुख्य अभियंता, अति मुख्य अभियंता एवं अधीक्षण अभियंता जुड़े रहे.

सीएम गहलोत ने कहा कि अच्छी एवं गुणवत्तापूर्ण सड़कें बनें, यह राज्य सरकार की प्राथमिकता में है. उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण प्रदेश के राजस्व संकलन में कमी जरूर आई है, लेकिन राज्य सरकार सड़क विकास के कार्यों में कोई कमी नहीं आने देगी.

इस बैठक में विभाग के अधिकारियों एवं अभियंताओं को सड़कों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए गए. जिन सड़कों के कार्य अभी लंबित चल रहे हैं, उन्हें पूरा करने पर भी ध्यान देने तथा ग्रामीण क्षेत्रों में बनने वाले विकास पथ में भी गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखने को कहा गया.

सीएम गहलोत के मुताबिक, कोविड-19 संक्रमण के दौरान विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने सराहनीय कार्य किया है. सार्वजनिक निर्माण विभाग के अभियंताओं ने भी मेहनत में कोई कमी नहीं रखी . मुख्यमंत्री ने धौलपुर, बारां, भरतपुर, दौसा एवं अन्य जिलों में वी.सी. के माध्यम से मुख्य अभियंताओं एवं अति. मुख्य अभियंताओं से बात की. उनसे सड़कों की प्रगति के बारे में जानकारी ली. उन्होंने बजट घोषणाओं के क्रियान्वयन के भी निर्देश दिए.

इस समीक्षा बैठक में सार्वजनिक निर्माण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव वीनू गुप्ता, मुख्य सचिव राजीव स्वरूप, अति. मुख्य सचिव वित्त निरंजन आर्य, सचिव सार्वजनिक निर्माण विभाग चिन्हरी मीणा, मुख्य अभियंता एवं अतिरिक्त सचिव पीडब्ल्यूडी संजीव माथुर, मुख्य अभियंता (राष्ट्रीय राजमार्ग) डूंगर राम मेघवाल, मुख्य अभियंता (पीएमजीएसवाय) सुबोध मलिक व अधीक्षण अभियंता (पथ) मुनव्वर अली सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें