जयपुर : निगम ने नहीं ली सुध तो गंदे पानी में ही धरने पर बैठे पार्षद और व्यापारी

Smart News Team, Last updated: 02/12/2020 12:04 PM IST
  • जयपुर के रामपुरा रोड के खस्ताहाल होने और सीवर के गंदे पानी की निकासी नहीं होने से वार्ड 83, 88 व 91 की 50 हजार से ज्यादा की आबादी को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. विधायक के आश्वासन के बाद पार्षदों व व्यापारियों ने गंदे पानी में बैठकर दिए जा रहे धरने को समाप्त किया.
सीवर के गंदे पानी में धरने पर बैठे पार्षद व व्यापारी

जयपुर. राजधानी जयपुर के सांगानेर में पार्षदों और व्यापारियों में नगर निगम की लापरवाही को लेकर इस कदर गुस्सा है कि वे निगम के खिलाफ सीवर के गंदे पानी में ही धरने पर बैठ गए. दरअसल, रामपुरा रोड के खस्ताहाल होने और सीवर के गंदे पानी की निकासी नहीं होने से वार्ड 83, 88 व 91 की 50 हजार से ज्यादा की आबादी को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. 

कई बार शिकायत करने के बाद भी निगम इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है. इसके विरोध में ग्रेटर नगर निगम जयपुर के पार्षद विक्रम वाल्मीकि, आशीष परेवा, शंकर बाजडोलिया, व्यापर मंडल के अध्यक्ष सीताराम मीणा सहित व्यापारियों और स्थानीय लोगों ने सड़क पर बहते सीवर के गंदे पानी में धरने पर बैठकर विरोध जताया. पार्षदों व व्यापारियों के बढ़ते आक्रोश को देखते हुए सांगानेर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी पुष्पेंद्र भारद्वाज ने मौके पर आकर जेडीए व निगम के प्रशासनिक अधिकारियों को तुरंत प्रभाव से मौके पर बुलाकर जल्द से जल्द इस समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया. 

जयपुर रोडवेज बसों में मास्क के बिना नहीं मिलेगी एंट्री

इस दौरान पुष्पेंद्र भारद्वाज ने जेडीए व निगम अधिकारीयों के माध्यम से पार्षदों व व्यापारियों को आश्वासन दिया कि आगामी कुछ महीनों में रामपुरा रोड फाटक से लेकर केसर चौराहे तक सीसी सड़क, सड़क के दोनों तरफ पक्के नाले, बीच में डिवाइडर व स्ट्रीट लाइटों की व्यवस्था जल्द से जल्द हो जाएगी. विधायक के आश्वासन के बाद पार्षदों व व्यापारियों ने गंदे पानी में बैठकर दिए जा रहे धरने को समाप्त किया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें