जयपुर: सत्ता संग्राम बीच निर्दलीय विधायक ने जीता प्रदेश के जनता का दिल

Smart News Team, Last updated: 09/08/2020 07:28 PM IST
  • राजस्थान में सियासी घमासान जारी है. जिस कारण बीजेपी व कांग्रेस के विधायक अपने क्षेत्र से अलग थलग पड़े हैं. वहीं जयपुर में बढ़ती चोरी की घटनाओं के बीच निर्दल विधायक बलजीत यादव का रात्रि में गश्त पर निकल चर्चा का विषय बना हुआ है.
जयपुर

प्रदेश में पिछले एक महीने से जारी सत्ता संग्राम में अशोक गहलोत ने अपने समर्थक विधायकों की जनता से दूर जैसलमेर में बाड़ाबंदी कर रखी है वहीं पालयट अपने विधायकों के साथ हरियाणा के मानेसर में ठहरे हुए है. बीजेपी ने भी अपने विधायकों का प्रदेश से बाहर बाड़ाबंदी पर भेज दिया है. ऐसे में प्रदेश की जनता की सुध लेने वाला कोई नहीं है. इससे जनता में विधायकों के खिलाफ आक्रोश भी बढ़ रहा है.

प्रदेश में इन दिनों चोरी सहित अन्य आपराधिक गतिविधियों में तेजी से वृद्धि हो रहा है जिससे जनता त्रस्त है. इसी बीच बहरोड़ से निर्दलीय विधायक बलजीत यादव ने शनिवार रात को बाड़ाबंदी से दूर रात्रि गश्त पर निकले और कानून व्यवस्थाओं का जायजा लिया. बलजीत यादव के रात्रि गश्त की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो वह ट्रेंड करने लगीं. यह तस्वीरे देख जनता उन्हें सैल्युट करती हुई नजर आई.

गौरतलब है कि यादव अपने विधानसभा क्षेत्र की जनता के बीच लगातार सक्रिय रहते है, वहीं कुछ भी घटना होने पर वे तत्काल प्रभाव से मौके पर पहुंच अधिकारियों को उचित कार्रवाई के निर्देश देते रहे हैं.

पुलिस मिली शराब के नशे व अवैध वसूली में लिप्त

यादव ने बताया कि बीती देर रात क्षेत्र के अलग-अलग जगहों का औचक निरिक्षण करते हुए पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया. इस रात्रि गश्त का मकसद पुलिसिया तंत्र की रात्री गश्त व्यवस्था को मजबूत करना था. दरअसल, बहरोड़ में पिछले दिनों आपराधिक गतिविधियों में इजाफा देखने को मिला है. विधायक ने कहा कि क्षेत्र में चोरियों को रोकने के लिए तय किया गया है कि पुलिस की रात्रि गश्त को और ज़्यादा मजबूत किया जाएगा, ताकि कोई भी रात के वक्त में उत्पात मचाने वाला या चोरी के इरादे से आना वाला बचकर ना जा पाए.

उन्होंने कहा, 'आज मैंने स्वयं रात्रि गश्त में निकलकर पुलिस की गश्त व्यवस्था को जांचा है. इस दौरान कोई भी पुलिस का अधिकारी या जवान शराब पीए हुए, अवैध वसूली करते हुए या कार्य में लापरवाही करते पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. हमारे यहां निकम्मे और भ्रष्ट अधिकारियों और जवानों की कोई जगह नहीं है. बहरोड़ की जनता चैन की नींद सोये यही हमारा कर्त्तव्य है यही हमारा धर्म है और इसका हम पालन करेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें