जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल आयोजन 5 मार्च से, इसमें रूस-यूक्रेन विवाद पर भी होगा चर्चा

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Wed, 2nd Mar 2022, 11:07 PM IST
  • जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का आयोजन 5 से 14 मार्च तक होने जा रहा है. जिसमें विज्ञान, इतिहास और संस्कृति के अलावा रूस-यूक्रेन विवाद पर भी चर्चा होगी.
जयपुर साहित्य महोत्सव का आयोजन 5 मार्च से, इसमें रूस-यूक्रेन विवाद पर भी होगा चर्चा

जयपुर. जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का 15वां संस्करण का आयोजन होने जा रहा है. इसे 5 से 14 मार्च को जयपुर के होटल क्लार्क्स आमेर में आयोजित किया जाएगा. जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में राजस्थानी विरासत और संस्कृति पर आधारित कई विशेष सत्र हिस्सा बनेंगे. वहीं इसमें इस साल 15 भारतीय भाषाएं भी शामिल होंगी. इसके बारे में टीमवर्क आर्ट्स के प्रबंध निदेशक संजॉय के रॉय ने बताया कि जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल कि तैयारियां जोरो पर चल रही है.

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के बारे में टीमवर्क आर्ट्स के प्रबंध निदेशक संजॉय के रॉय ने बताया कि इस साल कार्यक्रम में यूक्रेन-.रूस विवाद, जलवायु परिवर्तन, न्यू वर्ल्ड ऑर्डर फिक्शन की कलाएं, काव्य यात्रा, विज्ञान, इतिहास आदि पर जोड़ दिया जाएगा. इसके साथ ही राजस्थान की अनेक भाषाओं और बोलियों पर भी चर्चा किया जाएगा. इतना ही नहीं इस बार साहित्यकार चन्द्र प्रकाश देवल राजस्थान की भाषाओं, साहित्य, कविता और संगीत अपने विचार व्यक्त करेंगे.

पूर्व CM वसुंधरा राजे की कार का जयपुर में एक्सीडेंट, टक्कर मारने वाली युवती बोली- सॉरी

इसके साथ ही इस बार जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में इतिहासकार यशस्वनी चंद्रा और रीमा हूजा महान योद्धा महाराणा प्रताप और उनके प्यारे घोड़े चेतक के बारे में कई अनसुनी कहानियां सुनाएंगी. इस महोत्स्व को लेकर पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने कहा कि यहां पर सही मायनों में देशी-विदेशी लेखकों को एक ऐसा मंच प्रदान करता है जहां से वो साहित्य, संस्कृति और धरोहर के बारे में अपने विचार व्यक्त कर सकते है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें