जयपुर: प्यार में रोड़ा बना पति तो प्रेमी ने फ़िल्मी अंदाज में कर दिया मर्डर

Smart News Team, Last updated: 25/08/2020 11:21 PM IST
  • जयपुर के कोटपूतली में पुलिस को लालाराम मीना हत्याकांड मामले में बड़़ी सफलता हाथ लगी है. हत्याकांड के मास्टरमाइंड प्रेमी खेमसिंह सहित तीन को गिरफ्तार कर लिया गया है. पूछताछ में लालाराम को शराब पिला पत्थर से सिर कुचल कर हत्या कर देने तथा इस कांड को सड़क हादसा का रूप देने की कोशिश की गई.
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर के काेटपूतली इलाके में दो दिन पहले हुई लालाराम मीना की हत्या की गुत्थी आखिरकार सुलझ गई है. हत्या का मास्टरमाइंड मृतक की पत्नी का प्रेमी और मामले में शामिल तीन साथी पुलिस के हत्थे चढ़ गए. वारदात में प्रयुक्त पिकअप को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है. हत्या की वजह अवैध संबंध का होना सामने आया है. इसमें मृतक लालाराम की पत्नी का मुख्य आरोपी खेमसिंह से नाजायज संबंध की बात सामने आई है. आरोपी खेमसिंह ने लालाराम को रास्ते से हटाने के लिए हत्या को सड़क हादसे का रूप देने की साजिश रची लेकिन कामयाब नहीं हो पाया.

एसपी शंकरदत्त शर्मा ने मीडिया से जानकारी देते हुए बताया कि वारदात का मास्टरमाइंड गिरफ्तार आरोपी तन करोड़ी प्रागपुरा निवासी खेमसिंह उर्फ नरेंद्र उर्फ मामन सिंह (24) है, जबकि अन्य दो आरोपी प्रहलाद बावरिया (21) निवासी विराटनगर और कमलेश बावरिया (19) निवासी तहसील तूंगा जयपुर के हैं.

एसपी के मुताबिक खेमसिंह उर्फ मामन सिंह का लालाराम की पत्नी से अवैध संबंध था, जिसका पता लालाराम को चला तो उसने पत्नी को खेमसिंह से बातचीत के लिए मना किया. लेकिन खेम सिंह को यह बर्दाश्त नहीं हुआ. तब उसने अवैध संबंध में बाधा बन रहे लालाराम की हत्या की साजिश रच दी.

जयपुर रेंज आईजी एस. सेंगाथिर ने बताया कि खेमसिंह ने हत्या की साजिश में अपने परिचित प्रहलाद व कमलेश को रूपयों का लालच देकर साथ लिया. आरोपी खेमसिंह ने लालाराम को फोन कर कोटपूतली बुलाया. लालाराम वहां अपनी स्कूटी से पहुंचा. तब खेमसिंह अपने दोस्तों के साथ उसका बर्थडे सेलीब्रेट करने के बहाने लालाराम को केशवाना गांव में स्थित अपने कमरे पर ले गया. वहां बदमाशों ने लालाराम को जमकर शराब पिलाई. इसके बाद उसे खाना खिलाने के बहाने स्कूटी पर ले गए.

तीनों आरोपी उसे बानसूर रोड से होते हुए दयालपुरा गांव के पास सूनसान रोड पर लेकर आए. वहां एक भारी पत्थर पिकअप में रख लिया. इस बीच स्कूटी रोकने पर लालाराम उतर गया और वह नशा ज्यादा होने से सड़क पर ही लेट गया. तब खेमसिंह ने मौका पाकर पिकअप में रखे पत्थर से दो बार लालाराम का सिर कुचलकर हत्या कर दिया. इसके बाद शव को पिकअप में डालकर राजनोता रोड पर ले आए. वहां लालाराम मीणा को सड़क पर पटक दिया. वही, उसकी स्कूटी को भी पटक दिया. फिर पिकअप का टायर लालाराम के सिर पर चढ़ाकर कुचला और हत्या को सड़क हादसे का रूप देने की कोशिश की.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें