जयपुर: 2 अक्टूबर को कृषि बिल के विरोध में कांग्रेस करेगी यह काम

Smart News Team, Last updated: Thu, 24th Sep 2020, 2:21 PM IST
  • कृषि बिल के विरोध में कांग्रेस 2 अक्टूबर मनाएगी किसान बचाओ दिवस. 28 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय से लेकर राजभवन तक प्रदेश कांग्रेस का पैदल मार्च होगा. केंद्र सरकार के कृषि विधेयकों के खिलाफ कांग्रेस ने देशभर में विरोध प्रदर्शन करने की तैयारी
कांग्रेस

जयपुर: केंद्र सरकार द्वारा पास किए गए किसान बिल के विरोध में कांग्रेस ने प्रदर्शन किए जाने की योजना बनाई है. कांग्रेस द्वारा देश भर के अलग-अलग राज्यों में 2 अक्टूबर को विरोध प्रदर्शन किया जाएगा. कांग्रेस द्वारा 2 अक्टूबर को किसान बचाओ दिवस के रूप में मनाया जाएगा.

इसी क्रम में जयपुर में भी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन किए जाने को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है. इस संदर्भ में प्रदेश अध्यक्ष ने प्रदेश के सभी जिलों में विरोध प्रदर्शन किए जाने का निर्देश दे दिया है. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने इसके लिए सभी प्रदेश इकाईयों को दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं.

राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने ऐलान किया है कि कांग्रेस 2 अक्टूबर को किसान मजदूर बचाओ दिवस मनाएगी. उन्हाेंने बताया कि एआईसीसी के निर्देशों के मुताबिक विरोध प्रदर्शनों का कार्यक्रम तय किया जाएगा.

इसमें प्रदेश के वरिष्ठ नेता और प्रभारी महासचिव प्रेस वार्ता करेंगे. साथ ही संगठन के लोग किसानों के साथ सड़कों पर भी विरोध प्रदर्शन करेंगे. कांग्रेस व अन्य विपक्षी पार्टियों के भारी विरोध के बावजूद भाजपा इन कृषि विधेयकों को लोकसभा व राज्यसभा में पारित करवा चुकी है. अब कानून बनने के लिए इसे राष्ट्रपति के पास हस्ताक्षर के लिए भेजा गया है.

विपक्ष के भारी विरोध के बावजूद भाजपा अपने कदम पीछे हटाने को तैयार नहीं है. कांग्रेस इस मुद्दे को छोड़ने के लिए तैयार नहीं है. विधेयकों का विरोध करने व किसान संगठनों से समर्थन लेने के लिए कांग्रेस ने एक पखवाड़े के कार्यक्रम तय करते हुए सभी राज्य ईकाइयों को विभिन्न टास्क दिए गए हैं.

24 सितंबर से लेकर 10 अक्टूबर सभी राज्य के प्रदेशाध्यक्षों और प्रदेश प्रभारियों को टास्क दिया गया है.

राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अजय माकन 24 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में प्रेसवार्ता करेंगे. उनके साथ पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा भी मौजूद रहेंगे. इसके बाद 28 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय से लेकर राजभवन तक प्रदेश कांग्रेस का पैदल मार्च होगा. पैदल मार्च के बाद राज्यपाल को ज्ञापन दिया जाएगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें