जयपुर: जेल परिसर में पेट्रोल पंप की शुरुआत, 150 बंदी 3 शिफ्ट में संभालेंगे काम

Smart News Team, Last updated: 08/10/2020 12:23 PM IST
  • भारत सरकार की नई योजना अब राजस्थान में भी लागू होगी यह योजना पहले केरल में लागू की जा चुकी है जहां अपराधी पेट्रोल पंप की कमान संभालेंगे. रोजगार के अवसर मुहैया कराकर बंदियों में सुधार लाए जाने की नई कवायद शुरू की गई है. जेल से छूटकर बंदी अपने जीवन की नई शुरुआत कर सकेंगे. 
राजस्थान सरकार अब बंदियों से पेट्रोल भरवाने की तैयारी कर रही है.

जयपुर: राजस्थान सरकार अब बंदियों से पेट्रोल भरवाने की तैयारी कर रही है. जेल में रहने वाले बंदे पेट्रोल पंप पर नजर आएंगे बंदी ही गाड़ियों में पेट्रोल और डीजल भरते हुए नजर आएंगे. राज्य सरकार भारत सरकार की योजना को राज्य में लागू कर रही है. इससे पहले केंद्र सरकार की इस योजना को केरल में लागू किया जा चुका है, जहां जेल के कैदी पेट्रोल पंप पर काम करते हुए नजर आ रहे हैं. यह योजना अब राजस्थान में भी लागू की जा रही है. प्रदेश के 4 जिलों को चुना गया है. इन चुनिंदा जिलों में ही कैदी पेट्रोल पंप की कमान संभालते हुए नजर आएंगे, जहां कैदियों द्वारा ही गाड़ियों में पेट्रोल और डीजल भरा जाएगा.

आपको बता दें कि भारत सरकार की अहम योजना का हिस्सा जो की केरल में पहले ही लागू किया जा चुका है. अब राजस्थान की जेलों में भी देखने को मिलेगा. राजस्थान जेल विभाग ने आइओसीएल के साथ एमओयू किया है जिसके तहत राजस्थान के चार जिलों की जेल परिसर में पेट्रोल पंप शुरू किये जायेंगे और सबसे पहले राजधानी जयपुर की सेंट्रल जेल से इसकी शुरुआत हुई है.

जयपुर सर्राफा बाजार में सोना चमका चांदी पड़ी फीकी, आज का सब्जी मंडी थोक भाव

इन जिलों में कैदी संभालेंगे पेट्रोल पंप की कमान

जयपुर, अलवर, भरतपुर, कोटा की जेलों में ये पेट्रोल पंप शुरुआत में खोले जायेंगे. जेल विभाग की तरफ से आईओसी को दी गई जेल परिसर में जमीन जिस पर आइओसी के सेटअप के साथ मिलकर ये पेट्रोल पंप खोले जा रहे हैं. जेल में सजा पाने वाले वह बंदी जिन्होंने अपनी सजा की एक तय अविधि पूरी कर ली है, जिनका आचरण अच्छा है उनको इन पेट्रोल पंप पर काम करने की ड्यूटी दी जायेगी. ऐसे बंदियों के आय के सोर्स्र के लिए, उनकी हौसला अफजाई के लिए इस अभिनव योजना से जोड़ा जायेगा. ये पेट्रोल पंप 24 घंटें संचालित किये जायेंगे और यहां मुख्य कार्य बंदी ही करेंगे. जयपुर सेंट्रल जेल परिसर में पेट्रोल पंप की औपचारिक शुरुआत कर दी गई है.

पेट्रोल पंप खुलने से डेढ़ सौ बंदियों को मिलेगा रोजगार

प्रदेश के 4 जिलों में पेट्रोल पंप खोले जाने की योजना शुरू हो रही है. इन 4 दिनों में करीब डेढ़ सौ बंदियों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे. इन कैदियों को काम के बदले तनख्वाह भी दी जाएगी. अनुमान है कि जयपुर के सेंट्रल जेल से करीब 5 लाख रुपये की आय हो सकती है. इस आय से बंदियों को उनकी तनख्वाह दी जाएगी. बंदियों रोजगार के नए अवसर मिलेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें