जयपुर: पुलिस ने मिलावटखोरों को किया गिरफ्तार, बेच रहे थे मिलावटी डीजल

Smart News Team, Last updated: 17/09/2020 01:49 PM IST
  • जयपुर. 800 लीटर तेल के साथ तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार. हाईवे पर गुजरने वाले बड़े वाहनों को करते थे सप्लाई.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

जयपुर। मिलावटी सामानों की कालाबाजारी करने के आरोप में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. यह तीनों आरोपी डीजल में मिलावटी कर इसे सस्ते दामों पर बेच रहे थे. घटना की जानकारी होने पर पुलिस ने छापेमारी कर आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. पुलिस ने आरोपियों के पास से कच्चे माल और मिलावटी के सामानों को कब्जे में ले लिया है. पुलिस अन्य मिलावटखोरों की तलाश में जुटी हुई है.

शहर में मिलावटी सामान के खिलाफ पुलिस का अभियान लगातार जारी है. बुधवार को भी बगरू थाना पुलिस द्वारा बड़ी कार्रवाई करते हुए 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया. तीनों को चार ड्रमों में भरे 800 लीटर मिलावटी डीजल के साथ गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने बताया कि नेशनल हाइवे की निगरानी के दौरान सूचना मिली कि बगरू औद्योगिक क्षेत्र में एक फैक्ट्री में अवैध तरीके से डीजल तैयार किया जा रहा है. जिसे हाइवे से गुजरने वाले बड़े वाहनों में सप्लाई किया जाता है. जांच के दौरान पता चला कि डीजल ड्रमों में भरकर बेचने के लिए एक होटल ले जाया जाना है. पुलिस की एक टीम तुरंत मौके पर पहुंची. इस दौरान एक टैंपो चालक महेंद्र कुमावत और उसके साथ खड़े दो युवकों सरजीत जाट और रूपचंद जाट को गिरफ्तार किया गया.

जयपुर: अब शिक्षा विभाग में कार्यालय या सचिवालय से नहीं होगा तबादला

बाजार में डीजल की कीमत 81 से ज्यादा, मिलावटी 44 में बिक रहा

पूछताछ में सामने आया कि आरोपी रीको एरिया में स्थित बाबूलाल साहू की फैक्ट्री से अवैध मिलावटी डीजल खरीद कर लाते हैं. जिसके बाद डीजल को नेशनल हाइवे 8 पर कुछ होटलों और वाहनों में अच्छे मुनाफे के साथ बेच दिया जाता है. पूछताछ में ये भी सामने आया कि आरोपी 44 रुपए प्रति लीटर के भाव से मिलावटी डीजल खरीदकर लाते हैं. वहीं, डीजल का फिलहाल बाजार भाव 81 रुपए है.

ट्रक ड्राइवरों को पैसे का लालच देकर बेचते थे तेल

आरोपियों के पास से बरामद किए गए प्रत्येक ड्रम में 200 लीटर डीजल भरा था. कुल 4 ड्रमों में 800 लीटर डीजल बरामद किया गया. जिसे ट्रक ड्राइवर सरजीत और रूपचंद अपने ट्रक में भरने के साथ-साथ दूसरे ट्रक ड्राइवरों को पैसे का लालच देकर बेच देते थे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें