जयपुर: गुरुद्वारे में पूछताछ करने गई पुलिस क झेलना पड़ा सिख समाज का विरोध

Smart News Team, Last updated: 29/08/2020 09:24 AM IST
  • जयपुर. राज्य सरकार द्वारा धार्मिक स्थलों को खोले जाने के अनुपालन में आयोजित की गई थी मीटिंग पुलिस द्वारा गुरुद्वारे की घेराबंदी किए जाने से परिसर में मचा हड़कंप स्थानीय सिख समुदाय के लोगों ने पुलिस के रवैये पर किया आक्रोश जाहिर मामले को सुलझाने के प्रयास से पहुंचे डीसीपी डॉ राहुल जैन
जयपुर पुलिस

जयपुर। जयपुर के आदर्श नगर थाना क्षेत्र में पुलिस द्वारा गुरुद्वारे के भीतर पूछताछ करने पर पुलिस को सिख समाज का विरोध झेलना पड़ा.इस दौरान धार्मिक स्थल पर पूछताछ के लिए पहुंची पुलिस के खिलाफ लोगों ने आक्रोश जाहिर किया. पुलिस द्वारा गुरुद्वारे को घेर लिया गया था जिसके बाद गुरुद्वारे के अंदर भगदड़ मच गई. इससे लोग भयभीत हो गए.

पुलिस के अचानक गुरुद्वारे में प्रवेश करने से लोग इधर-उधर भागने लगे. बाद में बहुत पहुंचे पुलिस के आला अधिकारियों द्वारा मामले को शांत कराया गया.दरअसल जयपुर के आदर्श नगर थाना क्षेत्र स्थित एक गुरुद्वारे में 28 अगस्त की देर रात सरकार द्वारा जारी किए गए गाइडलाइन के अनुसार धार्मिक स्थलों को खोले जाने के अनुपालन में बैठक आयोजित की गई थी.

इस दौरान बैठक में विभिन्न गुरुद्वारों के लोगों को बुलाया गया था. बैठक में धार्मिक स्थलों को खोले जाने व श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए किस प्रकार प्रवेश दिए जाने को लेकर बैठक चल रही थी. बैठक की सूचना किसी ने पुलिस को गलत तरीके से पेश करते हुए दे दी.जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने गुरुद्वारे को चारों तरफ से घेर लिया. पुलिस द्वारा गुरुद्वारे की घेराबंदी किए जाने का सिख समुदाय ने विरोध किया.इस दौरान पुलिस पूछताछ के लिए गुरुद्वारे के भीतर भी चली गई. जहां बैठे लोग अचानक बैठक छोड़कर इधर-उधर भागने लगे. पुलिस के इस रवैए से नाखुश सिख समाज के लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया. जिसके बाद इसकी सूचना आला अधिकारियों को मिली. मामले को बढ़ता देख देर रात आला अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए.

इसके बाद उन्होंने मामले को किसी तरह शांत कराया. डीसीपी डॉक्टर राहुल जैन ने बताया कि पुलिस एक मामले में पूछताछ के लिए गुरुद्वारे में गई थी.इस दौरान सिख समुदाय द्वारा को गुरुद्वारे में पुलिस के प्रवेश किए जाने को लेकर विरोध किया गया. पुलिस द्वारा मामले को सुलझा लिया गया है. चिंता की कोई बात नहीं है. मामला कंट्रोल में है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें