नौकरी दांव पर लगाकर पुलिसवालों ने बचाई जान, कालाबाजारी वाले सिलेंडर भेजे अस्पताल

Smart News Team, Last updated: 03/05/2021 04:01 PM IST
  • जयपुर के शिप्रापथ थाना पुलिस ने नियमों को ताक पर रखकर अफसरों की मदद से कालाबाजारी में बरामद ऑक्सीजन सिलेंडर को निजी अस्पताल में भेजकर कई मरीजों की जान बचाई. प्रदेश में पहली बार ऐसा अनोखा मामला देखने को मिला है.
नौकरी दांव पर लगाकर पुलिसवालों ने बचाई जान, कालाबाजारी वाले सिलेंडर भेजे अस्पताल

जयपुर. राजधानी जयपुर से एक ऐसा मामला सामने आया है. जहां पुलिसकर्मियों ने अपनी नौकरी को दांव पर लगाकर अस्पताल के मरीजों की जान बचाई. दरअसल शिप्रापथ थाना पुलिस ने दो दिन पहले ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी करने वाले एक गिरोह को पकड़ा था. जिनके पास से लगभग दो दर्जन से ज्यादा सिलेंडर बरामद हुए थे. जिसे जब्त करने के बाद मालखाने में रखवा कर आरोपी को अरेस्ट किया गया था. लेकिन उसी रात एक निजी अस्पताल से डॉक्टरों ने थानाधिकारी को फोन करके मरीजोंं की जान बचाने के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर की मांग की थी.

इस पूरे मामले की सूचना थानाधिकारी ने अपने अफसरों को दी थी. जिसके बाद अफसरों की ओर से रजामंदी मिलने के बाद ऑक्सीजन से भरे इन सिलेंडरों को निजी अस्पताल में भेजकर वहाँ भर्ती मरीजों की जान बचाई गई. प्रदेश में यह एक अनोखा मामला है जहां पुलिसवालों ने नियमों को ताक पर रखकर अफसरों की मदद से लोगों की जान बचाई. हालांकि इस पूरे घटनाक्रम के दौरान मेडिकल विभाग से जुड़े अफसरों को भी इसकी जानकारी दी गई.

आपदा में कालाबाजारी! जयपुर में 45 हजार रुपये में बिक रहे रेमडिसिविर इंजेक्शन

इस घटना के बाद कालाबाजारी या चोरी में जब्त हुए ऑक्सीजन सिलेंडर, दवाएं, इंजेक्शन या कोई अन्य जान बचाने वाले उपकरण के बारे में एसओपी बनाने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है. जिससे कालाबाजारी में बरामद ऐसे माल को तुरंत उपयोग में लाया जा सके और इसके लिए ज्यादा कागजी कार्रवाई न करनी पड़े. समय पर इन उपकरणों के इस्तेमाल से इस घटना की तरह ही अन्य कई लोगों की जान बचाई जा सकती है.

राजस्थान उपचुनावः दो सीटों पर गहलोत की कांग्रेस और एक पर BJP प्रत्याशी की जीत

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें