जयपुर : राजस्थान के सदन की कार्यवाही 1 बजे तक हुई स्थगित, सचिन पायलट की सीट बदली

Smart News Team, Last updated: 14/08/2020 12:23 PM IST
  • सदन की कार्यवाही से पहले गहलोत बोले सत्य की होगी जीत. सचिन पायलट की सीट बदली, गहलोत के बगल में नहीं बल्कि दूसरी लाइन में बैठे. पायलट गुट के पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा की सीट भी बदली. विधायकों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बिठाया, 45 अतिरिक्त सीटें लगीं.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

जयपुर। राजस्थान में चल रही सियासी उठापटक के बाद शुक्रवार को विधानसभा का सत्रारंभ हुआ. सत्र सुबह 11 बजे के करीब शुरू हुई. राजस्थान में बगावत थमने के बाद 15वीं विधानसभा का यह 5वां सत्र है. स्पीकर सीपी जोशी के संबोधन के बाद कार्यवाही दोपहर 1 बजे तक स्थगित कर दी गई.

कांग्रेस की आंतरिक कलह का परिणाम शुक्रवार को सदन में भी देखने को मिला. जहां मुख्यमंत्री के बगल वाली सीट पर सचिन पायलट बैठे हुए नजर नहीं आए. सचिन पायलट शुक्रवार को सदन में दूसरी लाइन में बैठे हुए नजर आए जबकि उनके करीबी भी पूर्व में निर्धारित की गई सीटों पर बैठे हुए नजर नहीं आए.

सदन में बैठक व्यवस्था भी बदली गई है. डिप्टी सीएम के पद से हटाए जाने के बाद सचिन पायलट अब अशोक गहलोत के बगल वाली सीट पर नहीं बल्कि दूसरी लाइन में बैठे थे. उनके लिए निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा के बगल वाली 127 नंबर की सीट अलॉट की गई है. गहलोत के पास वाली सीट पर आज मंत्री शांति धारीवाल बैठे थे.

पायलट के साथ ही पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा की सीट भी बदली हुई थी. विश्वेंद्र को आखिरी लाइन में 14 नंबर सीट और मीणा के लिए पांचवीं लाइन में 54 नंबर की सीट दी गई है.

कोरोना की वजह से भी विधायकों को दूर-दूर बैठाया गया. इसके लिए 45 से ज्यादा अतिरिक्त सीटें लगाई गईं. सदन में हंगामे की आशंका को देखते हुए सोफे और कुर्सियों को चेन से बांधकर रखा गया है.

नम्बर गेम

कुल विधायक: 200

बहुमत का आंकड़ा: 101

सरकार के पास: 125

कांग्रेस: 107 (पायलट गुट के 19, बसपा के 6 एमएलए शामिल)

आरएलडी: 1

निर्दलीय: 13

बीटीपी: 2

माकपा: 2

विपक्ष

विधायक: 75

भाजपा: 72

आरएलपी: 3

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें