SMS अस्पताल के सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में 15 अगस्त से शुरू होगा उपचार

Smart News Team, Last updated: Thu, 8th Jul 2021, 2:32 PM IST
  • एसएमसएम मेडिकल कॉलेज में भर्ती मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधा सुलभ कराने के लिए 300 करोड़ रुपए की लागत से 22 मंजिला आईपीडी टावर बनाया जा रहा है. इस आईपीडी टावर में 22 मंजिल निर्माण कार्य के अतिरिक्त 3 मंजिल बेसमेंट का भी निर्माण किया जाएगा.
एसएमसएम मेडिकल कॉलेज में 300 करोड़ रुपए की लागत से 22 मंजिला आईपीडी टावर बनाया जा रहा है

जयपुर के एसएमएस मेडिकल कॉलेज परिसर में निर्माणाधीन सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में एसएमएस हॉस्पिटल से नेफ्रोलॉजी, यूरोलॉजी एवं गेस्ट्रो इंट्रोलॉजी विभाग शिफ्ट 15 अगस्त उपचार शुरू कर दिया जाएगा. एसएमसएम मेडिकल कॉलेज में भर्ती मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधा सुलभ कराने के लिए 300 करोड़ रुपए की लागत से 22 मंजिला आईपीडी टावर बनाया जा रहा है. 

इस आईपीडी टावर में 22 मंजिल निर्माण कार्य के अतिरिक्त 3 मंजिल बेसमेंट का भी निर्माण किया जाएगा. चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया ने बुधवार को एसएमएस अस्पताल और जेके लोन अस्पताल परिसर का दौरा किया. कोरोना की संभावित तीसरी लहर से जुड़ी तैयारियों का जायजा लेने के साथ ही निर्माण कार्यों का भी अवलोकन किया. इस दौरान गालरिया ने जेडीए के अधिकारियों को भवन निर्माण कार्य शुरू करने के साथ ही अस्पताल के लिए आवश्यक अन्य सुविधाएं सृजित करने के लिए भी कार्रवाई शुरू करने के निर्देश दिए हैं. 

राजस्थान में देश विरोधी गतिविधियों का पर्दाफाश, युवाओं को उकसाने की कोशिश नाकाम

इस दौरान एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुधीर भंडारी, एसएमएस अस्पताल के अधीक्षक डॉ. राजेश शर्मा, जेके लॉन अस्पताल के अधीक्षक डॉ. अरविंद कुमार शुक्ला मौजूद रहे. इस अवसर पर गालरिया ने जेके लोन अस्पताल में कोरोना की संभावित तीसरी लहर के दौरान बच्चों के उपचार के लिए की जा रही तैयारियों की विस्तार से समीक्षा की. उन्होंने बताया कि जरूरत पडऩे पर जेके लॉन अस्पताल को 800 बैड का कोविड डेडिकेटेड के रूप में भी तैयार किया जा सकता है. जेके लॉन अस्पताल में 200 बैड का पीडियाट्रिक्स आईसीयू की तैयारी भी की जा रही है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें