जयपुर: राजस्थान के हर गांव में नरेगा के दो कार्य होंगे स्वीकृत

Smart News Team, Last updated: 18/08/2020 01:36 PM IST
  • राजस्थान में कोरोना के चलते लॉकडाउन में लोगों के रोजगार छीन चुके हैं. ऐसे में राजस्थान के लोगों के लिए राहत की खबर है. मंत्री ने इस संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए है.
नरेगा

जयपुर: कोरोना महामारी और लॉकडाउन के कारण लोगों के रोजगार छीन चुके है. ऐसे में अब प्रत्येक गांव में मनरेगा के तहत सभी विभाग दो-दो कार्यों का प्रस्ताव तैयार करेंगे और उन्हे स्वीकृत कराकर ग्रामीणों को रोजगार मुहैया कराएंगे. उद्योग एवं राजकीय उपक्रम मंत्री परसादी लाल मीना ने कहा कि कोरोना के चलते लाकडाउन के बाद अब लोगों को रोजगार की आवश्यकता है. दौसा जिले की पंचायत समिति सभागार में आयोजित ब्लाक स्तरीय अधिकारियों की बैठक में इस संबंध में निर्देश दिए.

उन्होंने विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि वे सभी ग्राम पंचायत के प्रत्येक गांवों में दो-दो कार्य मनरेगा के तहत ग्राम विकास अधिकारियों से तत्काल प्रस्ताव लेकर उन्हे स्वीकृत कराकर ग्रामीण क्षेत्र में लोगों को रोजगार मुहैया कराएँ. उन्होने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अभियंताओं को भी निर्देश दिए कि वे प्रस्ताव तैयार कर विकास कार्यों की स्वीकृति कराकर कार्य चालू करें ताकि लोगों को रोजगार मिल सके. सिंचाई विभाग के अभियंताओं को निर्देश दिए कि वे अपने विभाग की ओर से कार्यों के प्रस्ताव तैयार कर भेजे. मंत्री मीना ने पंचायत समिति विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि खाद्य सुरक्षा से वंचित लोगों को भी सूची में शामिल कर उन्हें खाद्य सामग्री मुहैया कराई जाए.

मंत्री ने उपखण्ड अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना महामारी को देखते हुए सरकारी एडवाईजरी का पालना कराया जाना सुनिश्चित करें. साथ ही सोशल डिस्टेंस का भी शहरी क्षेत्र में विशेष ध्यान दिया जाए. मंत्री ने सोनड ग्राम में विधायक कोटे से नवनिर्मित सामुदायिक भवन की छत पहली बरसात में ही दीन हीन होने की स्थिति को गंभीरता से लेते हुए उपखण्ड अधिकारी को निर्देश दिए कि तत्काल संबंधित कार्मिकों के खिलाफ कार्यवाही कर निर्माण कार्य की जांच कराई जाएं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें