जयपुर: करौली में पत्नी की मौत के बाद नहीं मिला वाहन, शव को ठेले पर ले गया पति

Smart News Team, Last updated: 19/11/2020 09:17 PM IST
  • जयपुर के पास करौली में स्थित एक अस्पताल में पत्नी की मौत के बाद युवक को अस्पताल से घर शव ले जाने के लिए वाहन नहीं मिला, जिससे युवक को पत्नी का शव ठेले पर रखकर घर ले जाना पड़ा.
जयपुर के पास करौली में पत्नी की मौत के बाद नहीं मिला वाहन, शव को ठेले पर रख घर ले गया पति

 जयपुर: जयपुर के पास करौली में शख्स द्वारा पत्नी के शव को ठेले पर घर ले जाने का मामला सामने आया है. यह मामला हिण्डौन सिटी में मौजूद चिकित्सा विभाग का है, जो कि स्वास्थ्य सुविधाओं पर भी प्रश्न खड़ा करता है. बताया जा रहा है कि पत्नी की मौत के बाद युवक को अस्पताल से घर शव ले जाने के लिए वाहन नहीं मिला, जिससे युवक को पत्नी का शव ठेले पर रखकर घर ले जाना पड़ा. हैरान करने वाली बात तो यह है कि शख्स के साथ उसके दो मासूम बेटा और बेटी भी थे.

युवक का नाम बबलू है जो कि फतेहपुर सीकरी का रहने वाला है. वह हिंडौन के सुखदेवपुरा में किराए के मकान में रहता था और सिलाई का काम करता है. बुधवार को अचानक उसकी पत्नी सरोज को उल्टी हुई, जिससे वह पत्नी को ठेला गाड़ी के जरिए अस्पताल ले आया. यहां आते ही डॉक्टरों ने उसकी पत्नी को मृत घोषित कर दिया. ऐसे में बबलू अपनी पत्नी को गोद में लेकर अस्पताल के बाहर लाया. यहां ठेले पर मां का इंतजार कर रहे बच्चे उन्हें जगाने की कोशिश करने लगे.

जयपुर में हवा हुई साफ, ग्रीन श्रेणी में आई राजस्थान की राजधानी

इस मामले को लेकर डॉक्टरों से भी बातचीत की गई. इसपर उन्होंने कहा कि एंबुलेंस मरीज के लिए होती है, मृतक के लिए नहीं. मृतक के लिए शव वाहन होता है, जो कि हिंडौन अस्पताल में नहीं है. अस्पताल में वाहन की व्यवस्था के लिए अधिकारियों को भी पत्र लिखा गया. साथ ही डॉक्टर्स पर यह सवाल उठाया गया कि उन्हें शव वाहन या किसी दूसरे वाहन की व्यवस्था करनी चाहिए थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें