जयपुर: कारोबारी ने मरने से पहले मैसेज किया-मैं जीना चाहता हूं, लेकिन…

Smart News Team, Last updated: Wed, 20th Jan 2021, 12:00 PM IST
  • जयपुर के मंगलम आनंदा में एक ज्वेलरी कारोबारी ने सूदखोरों की धमकियों से परेशान होकर आत्महत्या कर ली. खुदकुशी करने से पहले कारोबारी ने अपने परिवार के लोगों को मोबाइल मैसेज भेजा, जिसमें कहा कि मैं जीना चाहता हूं, लेकिन ब्याज माफियाओं ने इतना परेशान कर दिया है कि मैं अब जी नहीं सकता.
सांकेतिक फोटो

जयपुर. शहर के सांगानेर इलाके में 60 वर्षीय एक ज्वेलरी कारोबारी ने सूदखोरों की धमकियों से परेशान होकर विषाक्त गोलियां खाकर खुदकुशी कर ली. प्रारंभिक जानकारी में सामने आया कि ज्वेलरी कारोबारी ने मौत से पहले एक पेज का सुसाइड नोट लिखा था, जिसमें उन्हें ब्याज के लिए परेशान करने वाले आठ लोगों के नाम का जिक्र है. पुलिस ने सुसाइड नोट जब्त कर लिया है. सांगानेर पुलिस के अनुसार आत्महत्या करने वाले ज्वेलरी कारोबारी का नाम कैलाश खंडेलवाल है. वे न्यू सांगानेर रोड मानसरोवर स्थित मंगलम आनंदा में अपने परिवार के साथ रहते थे. कैलाश खंडेलवाल की जौहरी बाजार में ज्वेलरी की दुकान थी. 

प्रारंभिक जानकारी में सामने आया कि कैलाश ने कुछ लोगों से ब्याज पर रुपए उधार लिए थे. इस रकम को उन्होंने ब्याज समेत चुका भी दिया था. इसके बावजूद ब्याज माफिया और सूदखोर उन्हें और रुपए देने के लिए परेशान कर रहे थे. इसके चलते कैलाश खंडेलवाल ने मंगलवार शाम को टोंक रोड पर होटल थीम के बाहर खड़े होकर जहर खा लिया. परिजनों ने बताया कि कैलाश खंडेलवाल सोमवार सुबह बिना बताए घर से चले गए थे. उन्होंने देर रात को अपने समधी को फोन कर बातचीत की, जिसमें मंगलवार सुबह घर लौट आने की बात कही थी. मंगलवार दोपहर बाद खुदकुशी से पहले कैलाश ने अपने परिवार के सभी सदस्यों को मोबाइल फोन पर एक मैसेज भेजा, जिसमें कहा कि मैं जीना चाहता हूं, लेकिन ब्याज माफियाओं ने इतना परेशान कर दिया है कि मैं अब जी नहीं सकता. कैलाश ने अपनी पत्नी को फोन कर टोंक रोड स्थित होटल थीम के बाहर खड़े होने और जहर खाने की सूचना दी. तब उनकी पत्नी ने टोंक रोड पर रहने वाली अपनी ननद को सूचना दी. इसके बाद वह अपने भाई को तलाश करते हुए मौके पर पहुंची. 

जयपुर में क्रूर हत्याकांड: पत्नी ने हथौड़े मार मारकर किया पति का कत्ल

वहां गंभीर हालत में मौजूद कैलाश को नजदीक स्थित जयपुरिया अस्पताल पहुंचाया, जहां देर शाम को कैलाश खंडेलवाल ने दम तोड़ दिया. कैलाश खंडेलवाल के खुदकुशी करने और उनके पास एक सुसाइड नोट मिलने पर परिजनों ने पहले शव को मोर्चरी में रखवाया. फिर वे मुकदमा दर्ज करवाने मुहाना थाने पहुंचे. वहां से उन्हें सांगानेर सदर थाने भेज दिया गया. सांगानेर थाने पहुंचे तो पुलिसकर्मियों ने उन्हें मुहाना थाने जाकर रिपोर्ट लिखवाने की बात कही. आखिरकार रात को सांगानेर थाने में आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज हुआ.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें