राजस्थान की पहाड़ियों में जुटा है टिड्डी दल, यूपी में दोबारा अटैक संभव

Smart News Team, Last updated: 24/08/2020 08:47 PM IST
  • खाद्य एवं कृषि संगठन ने उत्तर प्रदेश के लिए एक एडवाइजरी जारी की है जिसमें कहा गया है कि टिड्डीयों का बड़ा झुंड राजस्थान की पहाड़ियों में जुटा हुआ है. प्रजनन के बाद यह पहले से प्रभावित राज्यों पर हमला कर सकता है.
टिड्डियों का एक बड़ा झुंड राजस्थान की पहाड़ियों पर जुटा है जो उत्तर प्रदेश में हमला कर सकता है।

जयपुर. उत्तर प्रदेश में कोरोना के साथ टिड्डीयां भी लोगों की परेशानी का सबब बनी हुई है. पहले ही टिड्डीयां किसानों की फसल को काफी नुकसान पहुंचा चुकी है. पहले की तुलना में हालांकि प्रदेश में टिड्डी अब कम हुई है. लेकिन प्रदेश से टिड्डियों का खतरा अभी टला नहीं है.

दरअसल, एएफओ (खाद्य एवं कृषि संगठन) ने उत्तर प्रदेश के लिए एक एडवाइजरी जारी की है. एएफओ ने कहा है कि सचेत रहें, टिड्डियों के एक और हमले का खतरा अभी बना हुआ है. यूपी को भेजे गए संदेश में एएफओ ने कहा कि टिड्डियों का एक बड़ा झुंड अभी भी पश्चिमी राजस्थान की पहाड़ियों में जमा है.

जयपुर: राजस्थान विधानसभा सत्र तीसरी बैठक हंगामेदार, धरने पर बैठे भाजपा विधायक

टिड्डियों के लिए यह समय उनके प्रजनन के लिए सबसे महत्वपूर्ण है. इसके अलावा अभी टिड्डियों के अंडे देने की प्रक्रिया तेजी से जारी है.लगभग एक पखवाड़े बाद जैसे ही टिड्डियों के बच्चे जन्म लेंगे. पहले से प्रभावित राज्यों पर इनके हमले की आशंका फिर से बढ़ जाएगी.

Hindustan Impact: यूपी पशुधन घोटाले में DIG दिनेश दूबे और अरविंद सेन सस्पेंड

जानकारी के अनुसार इस साल टिड्डी दल का प्रकोप 26 साल में सबसे ज्यादा खतरनाक साबित हुआ है.एक छोटा टिड्डी दल दिन-भर में 10 हाथियों के बराबर खाना खा जाता है. इससे पहले गरीबी और खाद्य संकट से जूझ रहे अफ्रीकी देशों में इनका आतंक देखा जा चुका है. टिड्डीयां 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ती हैं और 1 दिन में 150 किलोमीटर तक की दूरी नापने में सक्षम होती हैं. ऐसे में यदि टिड्डियों ने दोबारा उत्तर प्रदेश पर हमला किया तो इससे किसानों की फसल को फिर से काफी नुकसान हो सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें