दो जगह वोटर लिस्ट में नाम आने पर महापौर सौम्या गुर्जर के निर्वाचन को चुनौती

Smart News Team, Last updated: Thu, 3rd Dec 2020, 4:53 PM IST
  • नगर निगम ग्रेटर जयपुर की महापौर सौम्या गुर्जर की प्रतिद्वंद्वी रहीं पिंकी यादव ने कोर्ट में लगाई याचिका. याचिका में दावा- सौम्या ने दो जगह वोटर लिस्ट में नाम होने के बाद भी तथ्य छुपाकर चुनाव लड़ा है. वार्ड 89 के पार्षद गिर्राज प्रसाद शर्मा व 102 के पार्षद महेंद्र शर्मा के निर्वाचन को भी चुनौती दी गई.
जयपुर ग्रेटर नगर निगम की महापौर सौम्या गुर्जर

जयपुर. जयपुर सहित जोधपुर और कोटा के नवगठित सभी 6 नगर निगमो में चुनाव होने के बाद सभी महापौरों ने कार्य करना शुरू कर दिया है. नगर निगम ग्रेटर जयपुर की महापौर डॉ सौम्या गुर्जर की महापौर बनने के 22 दिन बाद ही मुश्किलें बढ़ना शुरू हो गई है. बुधवार को सौम्या के सामने वार्ड 87 से कांग्रेस पार्षद प्रत्याशी रही पिंकी यादव ने सौम्या के निर्वाचन को जिला न्यायालय में याचिका दायर करके चुनौती दी है. 

पिंकी यादव की ओर से दायर याचिका में कहा है कि नियमानुसार उम्मीदवार को संबंधित निगम का मतदाता होना जरूरी है, जबकि मतदान के समय सौम्या गुर्जर करोली के देवरी गांव की भी मतदाता थी. याचिका में बताया कि सौम्या दो जगह वोटर लिस्ट में नाम होने के बाद भी तथ्य छुपाकर चुनाव लड़ी है, जबकि सौम्या ने इसी वर्ष करौली में अपने मताधिकार का उपयोग किया है. उन पर आपराधिक केस भी दर्ज है. ऐसे में सौम्या के पार्षद का चुनाव रद्द किया जाए. 

जयपुर में रिंग रोड पर गड्ढे, टोल वसूल रहे एनएचएआई से कलक्टर ने मांगी रिपोर्ट

महापौर सौम्या गुर्जर के नामांकन के साथ ही वार्ड 89 से पार्षद गिर्राज प्रसाद शर्मा और 102 से पार्षद महेंद्र शर्मा के निर्वाचन को भी चुनौती दी गई है. वार्ड 89 से भाजपा उम्मीदवार मोतीलाल वर्मा ने याचिका दायर कर बताया है कि गिर्राज शर्मा ने अपने नामांकन में के शपथ पत्र में गलत जानकारी दी है. गिर्राज शर्मा ने घर में शौचालय होने का शपथ पत्र दिया था, लेकिन उनके घर में शौचालय ही नहीं है. वहीं, 102 से कांग्रेस उम्मीदवार दिनेश व्यास ने याचिका दायर कि है की वार्ड से उम्मीदवार अंकित वर्मा को फायदा पहुंचाने के लिए उनकी ही स्कूल में मतदान केंद्र बना दिया गया.  

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें